निरीक्षण / अब कोई मौत न हो इसलिए सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम करें

Now there is no death, so make adequate security arrangements
X
Now there is no death, so make adequate security arrangements

  • श्रमिक की मौत होने के बाद जांच के लिए पहुंचे डायरेक्टर

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

दल्लीराजहरा. एक दिन पहले बिजली पोल टूटकर गिरने से श्रमिक की मौत होने के बाद सुरक्षा को लेकर सेफ्टी अधिकारियों व यूनियन के लोग जांच करने घटनास्थल  पहुंचे। शनिवार को संयुक्त खदान मजदूर संघ एटक के सचिव राजेन्द्र बेहरा,  अनिल यादव, अरिन्दम चाैधरी, गौतम बेरा, मनोज परेरा, विजय भंज, श्याम साहू, चंद्रशेखर सहित कई पदाधिकारियों ने दल्ली खदान के दुर्घटना स्थल का निरीक्षण किया। घटना के संबंध में महाप्रबंधक दल्ली खदान आरके सिन्हा व खान प्रबंधक वीरेंद्र कुमार से चर्चा की। चर्चा के दौरान पदाधिकारियों ने प्रबंधन से कहा भविष्य में इस प्रकार की घटना ना हो इसलिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किया जाए। 
पदाधिकारियों ने कहा कि सुरक्षा प्रथम यह नारा भिलाई इस्पात संयंत्र के खदानों में लागू किया जाता है, इसके बावजूद इस तरह की घटना दुखद है। जांच के लिए शनिवार को  दोपहर 1 बजे डिप्टी डायरेक्टर माइंस सेफ्टी बिलासपुर रोजश्वर राव माइंस क्षेत्र पहुंचे। उनके द्वारा घटना स्थल का बारीकी से मुआयना किया। यूनियन द्वारा प्रबंधन को चेतावनी दी गई कि इस प्रकार की घटना की पुनरावृति न हो इसके लिए आवश्यक कदम उठाए जाएं, जिसे प्रबंधन ने स्वीकार करते हुए दुबारा ऐसी घटना ना हो इसका भी आश्वासन प्रबंधन ने दिया।
प्रबंधन कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर गंभीर नहीं: यूनियन ने निर्णय लिया कि खदानों के सेफ्टी इंस्पेक्टर व सेफ्टी कमेटी मेम्बरों को लेकर सम्पूर्ण खदानों की सुरक्षा संबंधी गहन निरीक्षण करेगी। संयुक्त खदान मजदूर संघ द्वारा यह आरोप लगाया है कि प्रबंधन कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर गंभीर नहीं है। परंतु इन्ही संघ के पदाधिकारियों द्वारा सुरक्षा को नजर अंदाज कर माइंस क्षेत्र में बिना सेफ्टी के पहुंचते है जैसे उनके पास न ही हेल्मेट, न ही पैरो में बीएसपी जूते होते है और न ही मास्क का उपयोग किया जा रहा है। वहीं राजहरा खदान के अंतर्गत सभी खदान दल्ली माइंस, राजहरा, झरन दल्ली, महामाया, क्वारी माइंस व अन्य खदान क्षेत्र के मुख्य द्वार पर कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर सीएसएफ जवान तैनात किए गए है ताकि बिना पास, बिना हेलमेट, मास्क के माइंस क्षेत्र में प्रवेश ना कर सके। लेकिन तैनात जवानों की निष्क्रियता से कोई भी कर्मचारी बेरोकटोक आना- जाना करते हैं।
सीजीएम तपन ने कहा ठोस पहल की जाएगी
इस संबंध में सीजीएम तपन सूत्रधार ने कहा कि सेफ्टी डिपार्टमेंट के अधिकारियो  से चर्चा कर भविष्य में इस प्रकार दाेबारा घटना न हो इसके लिए ठोस पहल किया जाएगा। डिप्टी कमांडेंट मांगा ने बताया गया कि हमारे द्वारा कर्मचारियों के पास व अनुमति तथा सामानों की चेंकिंग की जाती है, सेफ्टी से संबंधित बीएसपी प्रबंधन के जिम्मेदार अधिकारियों की होती है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना