पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

लापरवाही:पिकअप चालक ने नींद में थाम रखी थी स्टेयरिंग, हादसे के बाद दूसरों से पूछ रहा था कि कुछ हुआ है क्या

डोंगरगांव9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रांग साइड में जाकर मारी टक्कर, डोंगरगांव-राजनांदगांव मार्ग पर घोरदा के पास हुई दुर्घटना

ब्लॉक के ग्राम बेंदरकट्‌टा निवासी विमल पिता अशोक रंगारी (30 वर्ष) रविवार दोपहर 1 बजे अपनी मोपेड क्रमांक सीजी 11 एएल 7732 में मां तारा रंगारी (55 वर्ष) को बिठाकर राजनांदगांव की ओर आ रहे थे। दोनों राजनांदगांव निवासी एक बीमार रिश्तेदार को देखने निकले थे पर घोरदा के पास पिकअप वाहन क्रमांक सीजी 04 एमपी 8421 के चालक ने जबरदस्त टक्कर मार दी। वाहन की टक्कर लगते ही मां-बेटे लगभग 6 से 7 फीट तक उछले और सड़क पर जा गिरे। दोनों के सिर व हाथ, पैर में गंभीर चोटें लगी। बेटे की मौके पर मौत हो गई। वहीं मां ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। पिकअप का चालक नींद में था। दुर्घटना के बाद वह सामने से आ रहे ट्रक से टकराते हुए बचा और दूसरे वाहन चालकों से पूछ रहा था कि रास्ते में कुछ हुआ है क्या। इस पूरे घटनाक्रम के प्रत्यक्षदर्शी रहे अंबागढ़ चौकी थाना प्रभारी अाशीर्वाद रहटगांवकर ने बताया कि वे दोपहर में चौकी लौट रहे थे तब सामने से एक पिकअप वाहन जा रहा था। पिकअप की रफ्तार देखकर लग रहा था कि चालक स्टेयरिंग को ठीक से संभाल नहीं पा रहा है। देखते ही देखते उसने रांग साइड पर जाकर मोपेड सवार मां-बेटे को टक्कर मार दी। पिकअप का चालक ठोकर मारकर आगे बढ़ गया।

पिकअप से अस्पताल भेजा
रहटगांवकर ने बताया कि युवक की मौके पर ही मौत हो चुकी थी। महिला को उसी पिकअप वाहन से ही बसंतपुर अस्पताल भेजा गया पर कुछ देर बाद डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। लालबाग थाना के प्रभारी प्रशिक्षु डीएसपी मयंक रणसिंह ने बताया कि चालक को हिरासत में लिया गया है। पूछताछ में पता चला कि वह बिजली कंपनी में ठेके में पिकअप वाहन चलाता है। झपकी आने की वजह से वह रांग साइड में चला गया।

बिखर गया परिवार
इस दुर्घटना में मां-बेटे की मौत से रंगारी परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। घर में बुजुर्ग पिता बीमार रहते हैं। तीन साल पहले ही विमल की शादी हुई थी पर बच्चे नहीं हैं। छोटे भाई और एक बहन की भी शादी हो चुकी है। परिवार को संभालने की पूरी जिम्मेदारी विमल पर ही थी। मां गृहिणी थी और घर संभालती थी पर दोनों की मौत की खबर सुनकर परिजन का रो-रोककर बुरा हाल है। पुलिस ने चालक पर जुर्म दर्ज किया गया है।

कोरोना ने बढ़ाया दर्द, नहीं दिया शव
मां-बेटे के शव को मेडिकल कॉलेज अस्पताल की मरच्यूरी में रखा गया है। अस्पताल प्रबंधन ने फिलहाल शव देने से मना कर दिया। बताया की कोरोना का सैंपल लिया गया है। निगेटिव रिपोर्ट आने पर शव परिजनों को सौंपेंगे। वहीं पॉजिटिव आने पर प्रोटोकाॅल के तहत अंतिम संस्कार होगा। अस्पताल प्रबंधन ने सोमवार तक रिपोर्ट आने की जानकारी दी है। इसके बाद पीएम होगा। थाना प्रभारी रहटगांवकर ने उसका पीछा किया और कुछ ही दूरी पर पकड़ लिया। पिकअप के चालक का कहना था कि अचानक झपकी आई और पता ही नहीं चला कि क्या हुआ। बस इतना पता चला कि कोई चीज गाड़ी से टकराई है। टीआई रहटगांवकर ने उसे बताया कि लापरवाही से वाहन चलाने से दो लोगों को ठोकर लगी है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें