पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आस्था:7 बहनों में सबसे छोटी हैं घुपसाल की मां घुपसलहीन

डोंगरगांव3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • साल 1989 से पहले यहां ज्याेति कलश नहीं रखा जाता था, मंदिर बना, अब बड़े शहरों के श्रद्धालु भी आते हैं

डोंगरगांव ब्लॉक मुख्यालय से लगभग 15 किलोमीटर की दूरी पर स्टेट हाईवे से लगे ग्राम घुपसाल (कु) में बस स्टैंड के करीब 400 मीटर में मां दंतेश्वरी (माता घुपसलहीन) मंदिर है। मंदिर के पुजारी भागीराम भूआर्य ने बताया कि क्वांर नवरात्रि पर मंदिर परिसर में 300 ज्योति कलश स्थापित की गई है। दर्शनार्थियों को सैनिटाइज करते हुए सिर्फ माता के दर्शन करने प्रवेश दिया जा रहा है। पुजारी ने बताया कि 1989 से पहले यहां ज्याेति कलश नहीं रखा जाता था, फिर 1989 में मंदिर निर्माण होने के बाद दंतेश्वरी माता की मूर्ति स्थापना करने के साथ ही चैत्र और क्वांर नवरात्रि में ज्योति कलश और हवन-पूजन के साथ ही यहां श्रद्धालुओं का आना और बढ़ता गया। मां दंतेश्वरी मंदिर के पुजारी ने बताया कि घुपरसाल में कई बरस से माता जी स्वयं आकर छोटे से पहाड़ी में विराजी हुई हैं। पुजारी ने बताया कि मां दंतेश्वरी का पहला स्वरूप बस्तर के दंतेवाड़ा में स्थापित है जो सात बहनों के रूप में प्रकट हुई। उनका अन्य मंदिर विजयपुर, जुन्नापानी, माहुद, अंबागढ़ चौकी कान्हे, दनगढ़, छुरिया में स्थापित है। उनकी सबसे छोटी बहन घुपसलहीन माता के रूप में घुपसाल में विराजमान है। सात बहनों में सबसे छोटी बहन हैं माता घुपसलहीन।

देवी पुराण में सती के 51 शक्तिपीठ का वर्णन है
मंदिर समिति के अध्यक्ष चमारराय साहू तथा भागीराम भूआर्य ने बताया कि देवी पुराण में सती के 51 शक्तिपीठों का वर्णन है जबकि तंत्र चूणामणि के अनुसार बावनवां शक्ति पीठ दंतेश्वरी मां को बताया गया है, जो बस्तर के दंतेवाड़ा में विराजमान है। पुराणों के अनुसार माता सती के दांत यहां गिरे थे जिसके अनुसार इसे दंतेश्वरी या रक्तदंतिका के नाम से जाना जाता है। मां दंतेश्वरी जो सात रूपों में प्रकट हुई थी। उनका सातवां रूप ग्राम घुपसाल में विराजमान है। यहां बड़े शहरों के श्रद्धालु भी आते हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह स्थितियां बेहतरीन बनी हुई है। मानसिक शांति रहेगी। आप अपने आत्मविश्वास और मनोबल के सहारे किसी विशेष लक्ष्य को प्राप्त करने में समर्थ रहेंगे। किसी प्रभावशाली व्यक्ति से मुलाकात भी आपकी ...

और पढ़ें