राहत / जिले के1.6 लाख स्कूली बच्चों को मिलेगा 45 दिन का सूखा राशन

X

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 07:01 AM IST

दुर्ग. जिले के 1 लाख 6 हजार स्कूली बच्चों को 45 दिन का  सूखा राशन दिया जाएगा। इस बार चावल-दाल के साथ तेल, नमक, अचार और सोयाबड़ी भी देंगे। बच्चों को उनके घरों में जाकर ये सामग्री बांटी जाएगी। 
जिले में 973 सरकारी व अनुदान प्राप्त प्राइमरी और पूर्व माध्यमिक शालाओं में सरकार द्वारा मध्यांह्न भोजन योजना संचालित की जाती है। कोरोना संक्रमण काल को देखते हुए सरकार ने गर्मी की छुट्टी में भी बच्चों को इस योजना के तहत सूखा राशन बांटने जा रही हैं। इसके पहले सरकार ने 40 दिनों का सूखा राशन बंटवाई है लेकिन उसमें केवल चावल व दाल ही था। 
तेल, नमक, आचार व सोयाबड़ी भी मिलेगा
स्कूली बच्चों को इस बार चावल व दाल के साथ तेल, नमक, आचार व सोयाबड़ी भी दिया जाएगा। प्राइमरी में चावल प्रति बच्चे को 4किलो 500 ग्राम, दाल 900 ग्राम, आचार 300 ग्राम, सोयाबड़ी 450 ग्राम, तेल 225 ग्राम, नमक 250 ग्राम देंगे। मिडिल के लिए प्रति बच्चे चावल 6 किलो 750 ग्राम, दाल 1किलो 350 ग्राम, आचार 450 ग्राम आदि देंगे।
बच्चों के घर-घर जाकर बांटेंगे राशन
स्कूली बच्चों को सूखा राशन उनके घरों में जाकर बांटने कहा है। जिला शिक्षा अधिकारी राशन बांटने के लिए संबंधित स्व सहायता समूहों से राशन की तय मात्रा के अनुसार पैकेट तैयार करवाएंगे। उसके बाद सोशल डिसटेंसी का पालन करते हुए घरों में जाकर वितरण करेंगे। राशन वितरण बच्चों को हुआ है या नहीं इसके लिए पालकों से पावती या हस्ताक्षर लेंगे। 
राशन वितरण के लिए डीईओ को निर्देश दिए हैं
"ग्रीष्मकालीन अवकाश में मिड डे मिल योजना का चावल, दाल व अन्य चीजों का वितरण बच्चों को करेंगे। इसके लिए सभी डीईओ को निर्देश जारी किए गए है। वे तैयारी के बाद यह सुनिश्चित करेंगे कि कब वितरण करेंगे।"
-जितेन्द्र शुक्ला, संचालक लोक शिक्षण संचालनालय

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना