पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कम हो रहा संक्रमण:सितंबर में हर दिन जांच के लिए पहुंच रहे थे 2 हजार लोग, अब संख्या आधी हो गई

दुर्ग8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लगातार घट रहे हैं कोरोना संक्रमितों के मरीज, टेस्टिंग भी हो रही है कम

जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम होने के साथ फीवर क्लीनिक में जांच के लिए पहुंचने वालों की संख्या लगातार कम हो रही है। सितंबर महीने में जहां हर दिन 2 हजार से अधिक लोग पहुंच रहे थे, वहीं अक्टूबर महीने में इनकी संख्या आधी रह गई है। पिछले तीन दिनों में तो एक तिहाई लोग ही टेस्टिंग करवाने पहुंच रहे हैं। इस प्रकार अब फीवर क्लीनिक खाली नजर आने लगे हैं। हालांकि अब तक यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि कोरोना का संक्रमण कम हुआ है, लेकिन मरीजों की संख्या में कमी जरूर नजर आ रही है।
कोरोना संक्रमण की टेस्टिंग इन स्थानों पर : जिले में अगस्त महीने में सबसे पहले जिला अस्पताल, सिविल अस्पताल सुपेला, उतई, पाटन, धमधा, झीट, छावनी , खुर्सीपार सहित 21 फीवर क्लीनिक चल रहे थे। अगस्त महीने में कुल 18065 लोग टेस्टिंग कराने पहुंचे थे। उसके बाद सितंबर महीने में जब कोरोना पीक पर आया तो प्रशासन ने फीवर क्लीनिक बढ़ाए। तब से कुल 42 फीवर क्लीनिक में से 36 फीवर क्लीनिक चल रहे हैं। यहां सितंबर महीने में 31007 लोग सैंपल देने आए। 14 अक्टूबर तक 15815 लोग टेस्टिंग करवाए हैं। इस तरह जहां सितंबर महीने मेें औसतन दो हजार रोज टेस्टिंग करवाने लोग आ रहे थे वह अब रोज औसतन एक हजार हो गई है।

52 साल से ज्यादा आयु वाले 10 प्रतिशत में कोरोना के हैं लक्षण
सर्वे में 4000 लोग कोरोना के प्रारंभिक लक्षण वाले मिले हैं। इन लोगों को सर्दी, खांसी और बुखार की शिकायत हैं। इनमें से 10 प्रतिशत यानी 410 लोग ऐसे हैं जिनकी आयु 52 साल से अधिक है। इन चिंहिंत उम्रदराज लोगों को स्वास्थ्य विभाग की मोबाइल टीम जाकर जांच करेगी। जिन उम्रदराज लोगों को बीपी, शुगर या अन्य गंभीर बीमारी भी है उन्हें हॉस्पिटल में दाखिल करवाएंगे।

जिले में एक तिहाई टेस्टिंग, बुधवार को 455 ने कराई कोरोना जांच
जिला अस्पताल, सिविल अस्पताल सुपेला, 9 शहरी स्वास्थ्य केंद्र, 8 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और 21 पीएचसी में फीवर क्लीनिक चल रहे हैं। यहां हर दिन सैंपल करवाने वाले कम हो रहे हैं। एक तिहाई लोग कम हुए हैं। 10 अक्टूबर को 640, 11 अक्टूबर को 590, 12 अक्टूबर को 495, 13 अक्टूबर को 480 और 14 अक्टूबर को 455 लोग की टेस्ट करवाने यहां पहुंचे। यह आंकड़ा रोजाना घट रहा है।

बीपी और शुगर वाले 506 लोगों के लिए गए सैंपल
सर्वे के दौरान उच्च रक्तचाप और डायबिटीज से ग्रसित लोग भी मिले हैं जिनके सैंपल की जांच करवाई जा रही है। विभाग के मुताबिक ऐसे 506 लोगों के सैंपल भी जांच के लिए भेजे गए हैं। धमधा ब्लॉक के मेड़ेसरा उप स्वास्थ्य केंद्र व ग्रामीणों से मुलाकात कर कोरोना सर्वे से संबंधित जानकारी सीएमएचओ डॉ. गंभीर सिंह और डिप्टी डायरेक्टर डॉ योगेश शर्मा ने जायजा लिया।

2030 लोगों के सैंपल टेस्ट के लिए भेजा रायपुर
सर्वे अभियान में संभावितों का आरटीपीसीआर टेस्ट कराया जाएगा। विभाग ने 2030 लोगों का सैंपल आरटीपीसी टेस्ट के लिए रायपुर है। विभाग ने 2,842 लोगों का एंटीजन टेस्ट कराया है। इस टेस्ट में 218 कोविड-19 पॉजिटिव मिले हैं। विभाग ने शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में 3.17 लाख घरों में कोविड-19 से संबंधित लक्षण वाले मरीजों की पहचान की। कार्यकर्ता व महिला पुलिस ने भूमिका निभाई।

पिछले 4 दिनों में तेजी से कम हुई मरीजों की संख्या
"फीवर क्लीनिक में पिछले चार दिनों से एक तिहाई लोग ही टेस्टिंग के लिए आ रहे हैं। घरों में सर्वे करवाने के बाद क्लीनिकों में लोग कम पहुंच रहे हैं। कोरोना संक्रमण की स्थिति में गिरावट आई है।"
-डॉ गंभीर सिंह ठाकुर, सीएमएचओ

खबरें और भी हैं...