लापरवाही / ड्रेनेज सिस्टम फेल, घरों में बेडरूम तक पहुंचा पानी

रिसाली के पुलिस सहायता केंद्र में घुसा पानी, आसपास के पूरे गार्डन में घंटो पानी जमा रहा। रिसाली के पुलिस सहायता केंद्र में घुसा पानी, आसपास के पूरे गार्डन में घंटो पानी जमा रहा।
X
रिसाली के पुलिस सहायता केंद्र में घुसा पानी, आसपास के पूरे गार्डन में घंटो पानी जमा रहा।रिसाली के पुलिस सहायता केंद्र में घुसा पानी, आसपास के पूरे गार्डन में घंटो पानी जमा रहा।

  • सफाई के नाम पर हुई खानापूर्ति ने बढ़ाई लोगों की मुश्किलें, निचली बस्तियों और पॉश इलाकों में भी भरा बारिश का पानी

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

दुर्ग. शहर सहित जिले में मंगलवार की सुबह करीब 6 बजे से शुरू हुई बारिश लोगों के लिए मुसीबत का सबब बन गई। 2 घंटे की तेज बारिश ने दुर्ग निगम की लचर सफाई व्यवस्था की पोल खोल दी। आलम यह रहा कि दर्जनभर से अधिक घरों में बारिश का पानी घुसा। इतना ही नहीं कॉलोनियों व बस्तियों में पानी जमा हो गया। यहां तक सरकारी दफ्तरों में आवाजाही तक प्रभावित हो गई। पद्मनाभपुर, दुर्गा चौक शंकर नगर, बांधा तालाब, संतराबाड़ी, बैजनाथपारा, राजीव नगर जैसे क्षेत्रों में पानी की वजह से लोगों को सबसे अधिक परेशानी उठानी पड़ी। इन क्षेत्रों में ड्रेनेज सिस्टम पूरी तरह से फेल हो गया। इसके अलावा अमृत मिशन के तहत खोदी गई सड़कों ने भी लोगों को परेशान किया। घंटेभर बाद जमा पानी की निकासी हो पाई। इस बीच लोगों के किचन के बर्तन घरों में तैरते देखे गए। जेआरडी स्कूल मैदान में संचालित परियोजना कार्यालय में पहुंचने के लिए भी मशक्कत करनी पड़ी।

मेयर ने किया निरीक्षण, व्यवस्था सुधार के निर्देश: इधर दुर्ग मेयर धीरज बाकलीवाल ने मंगलवार को सुबह से ही निचली बस्तियों का दौरा किया। बारिश के बीच वे उफनते नालों को देखने पहुंचे। वे दुर्गा चौक, संतराबाड़ी, शंकर नगर, न्यू दीपक नगर व अन्य हिस्सों तक पहुंचे। जहां उन्होंने पानी की निकासी के लिए निर्देशित किया।

10 दिनों में लगातार दूसरी बार बिगड़े हालात 
10 दिन पहले हुई बारिश के बाद भी निचली बस्तियों में जलभराव हुआ। निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन ने स्वयं सफाई कार्य का निरीक्षण किया। उन्होंने दावा किया कि सफाई व्यवस्था दुरुस्त है। बावजूद इसके मंगलवार की हुई बारिश ने निगम के दावों की पोल खोल दी। 10 दिन पहले ही हालात बिगड़े थे।

इन क्षेत्रों में हुआ जलभराव, 2 घंटे थमी रही जिंदगी
शहर के शंकर नगर नाला के आसपास लगभग सभी जगहों पर जलभराव की स्थिति बनी। इसके अलावा विजय नगर, संतराबाड़ी, सिंधी कॉलोनी, केलाबाड़ी, आदित्य नगर, शक्ति नगर, कादम्बरी नगर, कैलाश नगर में पानी जमा हुआ। पद्मनाभपुर में पूनम हसवानी के घर में बेडरूम तक पानी पहुंच गया। घर में सांप तक निकल आया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना