उम्मीदवारों का चुनाव प्रचार तेज:अध्यक्ष बनने 5 मैदान में, सबका दावा- जीते तो बनवाएंगे बार रूम

दुर्गएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पार्किंग, वेलफेयर योजना, स्वास्थ्य व सामूहिक बीमा का वादा। - Dainik Bhaskar
पार्किंग, वेलफेयर योजना, स्वास्थ्य व सामूहिक बीमा का वादा।

जिला अधिवक्ता संघ चुनाव के मतदान की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, अध्यक्ष से लेकर कार्यकारिणी सदस्य के लिए दावेदारी करने वाले उम्मीदवारों ने चुनाव का प्रचार प्रसार तेज कर दिया है। घर-घर वोटर्स से मिलने, सोशल मीडिया के जरिए कैंपेनिंग कर रहे हैं। संघ चुनाव के दो वर्ष के कार्यकाल के लिए दो महिलाएं और तीन पुरुष वकील अध्यक्ष पद के लिए चुनावी मैदान में जोर आजमाइश कर रहे हैं।

इस चुनाव में भी दावेदारों ने वकीलों की सबसे बड़ी समस्या बैठक और पार्किंग व्यवस्था को शामिल किया है। वकीलों के लिए वेलफेयर योजना, स्वास्थ और सामूहिक बीमा, गृह निर्माण सोसायटी का गठन करके वकीलों के लिए आवास के लिए सस्ती जमीन उपलब्ध कराने जैसे दावे किए जा रहे है।

दावेदारों ने अधिवक्ता और संगठन हित को सबसे पहले रखा है। वकीलों के लिए स्पोर्टस, लाइब्रेरी, जूनियर वकीलों के लिए ट्रेनिंग और सिविल जज की कोचिंग व्यवस्था को चुनावी दावों में शामिल किया गया है। उम्मीदवारों के एजेंडे में 5 से लेकर 20 मुद्दे शामिल है।

गहमागहमी : चुनाव की तारीख आई पास, कोर्ट परिसर में हलचल तेज

अधिवक्ताओं के लिए स्वास्थ बीमा और गृह निर्माण सोसायटी का निर्माण : चेतन तिवारी

अध्यक्ष पद की दावेदारी कर रहे सीनियर वकील चेतन तिवारी के मुताबिक अधिवक्ता संघ से जुड़े सदस्य एक परिवार जैसे हैं। उनके लिए वकीलों का हित सबसे पहले है। उनके चुनावी मुद्दों में वकीलों का लिए बीमा करना, गृह निर्माण सोसायटी की सरकार से चर्चा करके गठन करना ताकि सस्ती जमीन उपलब्ध हो सके। लाइब्रेरी में पुस्तकों की संख्या बढ़ाना, वकीलों को फायदा पहुंचाना उनके एजेंडे में शामिल किया गया है।

अन्य राज्यों के तर्ज पर एडवोकेट पेंशन स्कीम लागू करना : कमल नयन चतुर्वेदी

सीनियर एडवोकेट कमल नयन चतुर्वेदी भी चुनाव में अध्यक्ष की दावेदारी कर रहे हैं। उनके एजेंडे में वकीलों के लिए अन्य राज्यों के तर्ज पर पेंशन स्कीम लागू करना शामिल है। इसके साथ न्यायालय परिसर में वकीलों के लिए वेलफेयर बैंक शुरु करना, जूनियर एडवोकेट के लिए पहले तीन वर्षों तक फिक्स्ड स्टाइफंड की व्यवस्था करने के साथ सेमीनार के जरिए उनका प्रेक्टिकल और प्रैक्टिस स्किल को डेवलप करना शामिल है।

वकीलों की ट्रेनिंग और सिविल जज परीक्षा के लिए कोचिंग की व्यवस्था : नागेंद्र शर्मा

अधिवक्ता नागेंद्र शर्मा के मुताबिक चुनावी मुद्दों में उनका सबसे बड़ा फोकस वकालत करने आने वाले न्यू कमर्स के लिए ट्रेनिंग की व्यवस्था करना शामिल है। इसके साथ सिविल जज परीक्षा पास करने के लिए वकालत करने वालों के साथ स्टूडेंट्स के लिए कोचिंग की व्यवस्था करना है। इस चुनाव में अध्यक्ष पद की दावेदारी करने वालों के चुनावी मुद्दों में वकीलों के लिए बैठक व्यवस्था को सभी ने एजेंडे मेें शामिल है।

वकीलों का करवाएंगे बीमा : जी कामाक्षम्मा
अध्यक्ष पद के लिए दावेदारी कर रही वकील जी कामाक्षम्मा के मुताबिक उनके चुनावी दावों में सबसे बड़ा मुद्दा है कि वो सबसे पहले जीत के बाद वकीलों के लिए सामूहिक बीमा योजना लागू करवाएंगी। इसके साथ तीन महीने की फीस जमा नहीं करने पर वकीलों को मिलने वाले लाभ से वंचित होने की प्रक्रिया में सुधार करना है।

वकीलों के हित में पहले भी किया अब भी करेंगे: नीता जैन
अध्यक्ष पद पर दावेदारी कर रही महिला अधिवक्ता नीता जैन के मुताबिक वो पहले भी बड़ी जिम्मेदारी निभा चुकी हैं। उस दौरान भी संगठन के हित में काम किया था। इस बार भी जिम्मेदारी मिलने के बाद वकीलों के हित को ध्यान में रखकर पूरी जिम्मेदारी निभाएंगी। उनके मुताबिक कर्म का माइल स्टोन होता है। जीत के बाद वकीलों के हित के सभी काम किये जाएंगे।

खबरें और भी हैं...