विरोध-प्रदर्शन:आक्रोश रैली निकालने की नहीं मिली अनुमति, मंच से ही सौंपा गया ज्ञापन

दुर्गएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विहिप, बजरंग दल व बीजेपी ने किया था रैली का संयुक्त आह्वान। - Dainik Bhaskar
विहिप, बजरंग दल व बीजेपी ने किया था रैली का संयुक्त आह्वान।

विहिप-बजरंग दल व बीजेपी के संयुक्त आह्वान पर रविशंकर स्टेडियम से प्रस्तावित आक्रोश रैली को प्रशासन ने अनुमति नहीं दी। इसके चलते स्टेडियम के बाहर मंगलवार को सभा का आयोजन किया गया। सभा के बाद प्रशासनिक अधिकारियों को राज्यपाल व मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया।

इस अवसर पर विहिप के कान्हा जी महाराज प्रमुख रूप से मौजूद थे। उनके अलावा प्रांत अध्यक्ष संतोष गोलछा, रतन यादव, कौशलेन्द्र प्रताप सिंह, पूर्व मंत्री रमशीला साहू, अवधेश दुबे सहित अन्य मौजूद थे। इस अवसर पर कवर्धा में हुई घटना की जमकर निंदा की गई। सभी ने शासन-प्रशासन की कार्यप्रणाली पर नाराजगी व्यक्त की। विरोध प्रदर्शन के बाद कार्यकर्ताओं ने रैली निकालने का भी प्रयास किया, लेकिन प्रशासन की टीम स्वयं मौके पर पहुंच गई। इस दौरान रैली निकालने की अनुमति नहीं दिए जाने की जानकारी दी गई। साथ ही मौके पर ही ज्ञापन लिया गया। सभा का संचालन राजेन्द्र पाध्ये ने किया। इस अवसर पर पूर्व मेयर चंद्रिका चंद्राकर, ऊषा टावरी, मनोज मिश्रा, जागेश्वर साहू, प्रीतपाल बेलचंदन, माया बेलचंदन, चंद्रकांता मांडले सहित अन्य लोग मौजूद थे।

घटना की न्यायिक जांच व दोषियों पर कार्रवाई की मांग
ज्ञापन के माध्यम से मुख्यमंत्री से यह मांग की गई कि कवर्धा की पूरी घटना की न्यायिक जांच की जाए और दोषियों का पहचानकर उन्हें सजा दी जाए। साथ ही यह भी कहा गया कि जिन लोगों पर मामले दर्ज किए गए हैं वे मामले निःशर्त वापस लिए जाए। जिन अधिकारियों की विवेकहीनता के कारण बर्बर लाठी चार्ज हुआ और 3 हजार से अधिक लोगों को सरेआम पीटा गया उन पर भी कार्रवाई होना चाहिए।

खबरें और भी हैं...