पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नई योजना:एटीएम जैसा होगा वन नेशन वन राशनकार्ड 10 फीसदी ने नहीं कराया आधार नंबर लिंक

दुर्गएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 1 अगस्त से योजना को शुरू करने की तैयारी, पुराने राशन कार्ड को भी किया जाएगा मान्य
Advertisement
Advertisement

केंद्र सरकार की वन नेशन वन राशनकार्ड योजना 1 अगस्त से जिले में शुरू करने की तैयारी है। इसे लेकर खाद्य विभाग ने सक्रियता बढ़ा दी है। प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक जिले में 10 प्रतिशत राशनकार्डधारी ऐसे हैं, जिन्होंने आधार कार्ड की नहीं जमा किया है। या राशनकार्ड में जमा कराया गया आधार नंबर गलत है।  अब तक 5040 ऐसे कार्डधारियों की जानकारी जुटाई भी जा चुकी है। ऐसे लोगों की पहचान खाद्य विभाग ने राशन दुकानों के माध्यम से शुरू कर दी है। फिलहाल पुराने राशनकार्ड को ही वन नेशन वन राशनकार्ड के रूप में मान्य किए जाने की तैयारी है, लेकिन आगामी दिनों में इसे एटीएप के रूप में चिप की तरह तैयार किया जाना है। ताकि देश के किसी भी हिस्से से इसका उपयोग किया जा सके। जिले में इस समय करीब 4.20 लाख राशनकार्ड हैं। सर्वर में उनकी जानकारी अपडेट की जा रही है। जब तक नए कार्ड नहीं जारी होते, तब तक पुराने राशनकार्डों मान्य रहेंगे।

हितग्राहियों को पूछकर होगा तय 
नई योजना के तहत जिले में बने सभी राशन कार्डधारियों के रिकार्ड को केंद्र को भेजा जा रहा है। अन्य राज्यों से भी राशनकार्ड के डिटेल लिए जा रहे हैं। हितग्राहियों से पूछा जाएगा कि वे कहां से कार्ड एक्टिव रखना चाहेंगे। इसके आधार पर मंजूरी मिलेगी।

जानिए आखिर क्यों शुरू की जा रही योजना: वन नेशन वन कार्ड को लेकर लंबे समय से प्रयास किए जा रहे हैं। इससे गरीब व्यक्ति देश के किसी भी हिस्सें में राशन कार्ड दिखाकर राशन पा सकेगा। प्रवासी मजदूरों को ध्यान रखकर इसे शुरू किया जा रहा है। राशन दुकानों में कोर पीडीएस से जोड़ा जा रहा है।

4189 प्रवासी मजदूर आए हैं जिले में, उनके बनेंगे कार्ड 
जिले से 4189 प्रवासी मजदूर लौटे हैं। ये मजदूर पुणे, मुंबई, दिल्ली, गुजरात, पंजाब, हरियाणा, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, नोएडा आदि स्थानों से लौटे। अब 15,040 राशन कार्डधारियों का आधार लिंक नहीं हो पाया है। ऐसे करीब 10 प्रतिशत राशनकार्डधारी हैं, जिनके आधार नंबर राशन कार्ड में लिंक नहीं है।

जानिए कैसे मिलेगा नई योजना के तहत राशन
जिले के सोसायटियों को टेबलेट दिए गए हैं। इस टेबलेट में प्रत्येक राशन कार्डधारियों के सदस्य संख्या, उसे मिलने वाली राशन की मात्रा सॉफ्टवेयर के माध्यम से अपलोड है। राशनकार्ड आधार नंबर लिंक करने के बाद हितग्राही जिस भी सोसाइटी से अपने हिस्से का राशन उठाएगा वह शो करेगा। यहां का सोसाइटी संचालक टेबलेट से यह देख सकता है।

नवंबर तक मिलेगा प्रति हितग्राही 5 किलो खाद्यान्न
केंद्र सरकार ने तय किया है कि जून तक संचालित योजना को नवंबर तक बढ़ाया जाए। इसके तहत अंत्योदय व बीपीएल राशन कार्डधारियों को नवंबर महीने तक प्रति हितग्राही 5 किलो के हिसाब से चावल या गेंहूं दिया जाएगा। इसके अलावा प्रति कार्ड 1 किलो चना बांटा जाएगा। यह पूरी तरह से हितग्राहियों को मुफ्त में दिया जाएगा।

वन नेशन वन कार्ड की तैयारी, प्रक्रिया शुरू की गई है
"वन नेशन वन राशनकार्ड की तैयारी हमने शुरू कर दी है। जितने भी राशनकार्ड है उनके राशनकार्ड का आधार लिंक अपडेट करने का काम चल रहा है। अगस्त से यह योजना लागू करने की है।"
-सीपी दीपांकर,  खाद्य नियंत्रक दुर्ग

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज पिछले समय से आ रही कुछ पुरानी समस्याओं का निवारण होने से अपने आपको बहुत तनावमुक्त महसूस करेंगे। तथा नजदीकी रिश्तेदार व मित्रों के साथ सुखद समय व्यतीत होगा। घर के रखरखाव संबंधी योजनाओं पर भ...

और पढ़ें

Advertisement