पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

संवरेगा गार्डन:बायोडायवर्सिटी पार्क में ओपन थिएटर बनाया जाएगा, प्रकृति प्रेमियों के लिए सबसे सुंदर जगह बनाने की कार्ययोजना बनाकर किया जा रहा काम

दुर्ग20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
तैयारियों को लेकर कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने किया निरीक्षण। - Dainik Bhaskar
तैयारियों को लेकर कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने किया निरीक्षण।

तालपुरी स्थित बायोडायवर्सिटी पार्क का कायाकल्प किया जाएगा। यहां ओपन थिएटर, लोटस पांड के साथ बोटिंग की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। वन विभाग द्वारा कार्ययोजना तैयार कर इस पर काम किया जा रहा। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे एवं डीएफओ धम्मशील गणवीर ने बायोडायवर्सिटी पार्क का निरीक्षण किया। 250 एकड़ में फैले इस बायोडायवर्सिटी पार्क में वेटलैंड की वजह से अनेक प्रवासी पक्षियों का बसेरा भी होगा। पेड़ों की छांव के बीच पाथ-वे में घूमते हुए लोग अपने को प्रकृति के नजदीक पाएंगे।

लोगों की सुविधा के लिए जगह-जगह लैंडमार्क लगे होंगे
कलेक्टर ने कहा कि यह काफी बड़ा पार्क है। यहां देखने के लिए दर्शकों को देखने के लिए काफी कुछ है। रास्ते में लैंडमार्क लगा दिए जाएं। सामने ही रोडमैप रख दिया जाए तो लोगों को आसानी होगी। कलेक्टर ने इस पर तत्काल काम शुरू करने के लिए कहा। साथ ही जल्द ही पूरे प्रोजेक्ट में काम शुरू करने कहा। कलेक्टर ने मेमोरियल काॅर्नर की प्रशंसा भी की।

डक्स पक्षियों के लिए होगी बसाहट, ब्रीडिंग भी होगी
डीएफओ ने कलेक्टर को बताया कि पक्षियों की बसाहट के लिए तथा उनकी ब्रीडिंग के लिए पूरे सरोवर में फेंसिंग कराई जा रही है। पार्क में ओपन थिएटर और तालाबों में बोटिंग की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने एक तालाब को लोटस पांड के रूप में विकसित करने की बात भी कही। उन्होंने कहा कि यह शानदार वेटलैंड है। स्वाभाविक तौर पर यह पक्षियों के लिए बेहतर बसाहट बनेगा। भविष्य में यह पार्क पैराडाइज फ्लाई केचर, ग्रेहाॅर्नबिल और व्हिस्लिंग डक्स जैसे पक्षियों का आशियाना बनेगा।

पार्क में हरियाली को और बढ़ाने के लिए पौधरोपण
बायोडायर्वसिटी पार्क पहले ही विविध प्रजातियों के पेड़ों को लेकर काफी समृद्ध क्षेत्र रहा है। हाल ही में यहां सघन पौधरोपण भी किया गया। यह पौधरोपण यहां बायोडायर्वसिटी को और भी समृद्ध करेगा। वेटलैंड का जिस तरह से यहां विकास किया जा रहा है। उसके मुताबिक पौधे लगने से पक्षियों के लिए यह क्षेत्र आशियाने के रूप में बेहतर तरीके से विकसित हो सकेगा। इस दौरान अपर कलेक्टर ऋचा प्रकाश चौधरी एवं जिला पंचायत सीइओ सच्चिदानंद आलोक भी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...