पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बड़ी लापरवाही:एक किमी में पांच जगह खोद दी पाइप लाइन, हफ्ते भर से बेकार बह रहा पानी

दुर्ग13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शहर के आजाद हॉस्टल के पास छोटी पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हुई, जिसे अभी तक नहीं सुधारा जा सकता है। - Dainik Bhaskar
शहर के आजाद हॉस्टल के पास छोटी पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हुई, जिसे अभी तक नहीं सुधारा जा सकता है।
  • निगम ने पीडब्लूडी को भेजा 10 लाख का डिमांड नोटिस, कहा- लगातार ऐसी स्थिति बन रही
  • आपूर्ति बाधित: लीकेज की वजह से शहर की प्रमुख टंकियों में नहीं भर पा रहा पानी

दुर्ग निगम में सड़क चौड़ीकरण के चलते पानी संकट शुरू हो गया है। लोक निर्माण विभाग द्वारा इस समय जीई रोड का चौड़ीकरण किया जा रहा है। इसके चलते मालवीय नगर व इसके आसपास करीब 1 किलोमीटर में 5 जगहों पर पानी की लीकेज सामने आया है। लोक निर्माण विभाग की इस लापरवाही के चलते लाखों गैलन पानी व्यर्थ में बर्बाद हो रहा है।

इसके चलते दुर्ग निगम ने लोक निर्माण विभाग को 10 लाख रुपए का डिमांड नोटिस भेजा है। सोमवार को पुन: आजाद हॉस्टल मालवीय नगर के सामने छोटी पाइप लाइन फूट गई। निगम अधिकारियों के मुताबिक कार्य एजेंसी द्वारा लगातार लापरवाही बरती जा रही है, जिसके चलते निगम के पेयजल पाइप लाइन का काफी नुकसान पहुंचा है। बिना निगम को जानकारी दिए कार्य एजेंसी द्वारा मनमाने ढंग से चौड़ीकरण को लेकर गड्ढा खोदा जा रहा है। इस वजह से ये दिक्कतें सामने आई है। पाइप लाइन में लीकेज के चलते सबसे ज्यादा पटरीपार का क्षेत्र प्रभावित हुआ है। टंकियों में जलभराव नहीं होने से लोगों को कम पानी मिल पा रहा है। मुख्य रूप से शक्तिनगर वार्ड, सिकालोबस्ती वार्ड, गयानगर वार्ड, हरिनगर, कातुलबोड़, तितुरडीह, शांतिनगर, दीपक नगर के इलाके प्रभावित हैं।

तीन किलोमीटर तक होना है सड़क का चौड़ीकरण
लॉकडाउन में लोगों की आवाजाही नहीं के बराबर है। ट्रैफिक सड़कों पर बिलकुल नहीं है। इसलिए पीडब्ल्यूडी द्वारा मालवीय नगर चौक से पुलगांव चौक तक सड़क चौड़ीकरण का काम शुरू किया है। तीन किलोमीटर तक यह सड़क चौड़ी की जा रही है। जिसमें से करीब एक किलोमीटर में ही पांच जगह पर पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हुई है। इसका मेंटेनेंस भी लगातार किया जा रहा है। सड़क का काम तो जारी है लेकिन लगातार पाइप लाइन को क्षति पहुंच रही है।

इन जगहों पर पाइप लाइन फूटी, पानी हो रहा बर्बाद
शहरवासियों को पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए साइंस कालेज के सामने स्थित 24एमएलडी फिल्टर प्लांट से मुख्य पाइप लाइन है। इस पाइप लाइन के जरिए शहर की पानी टंकियों में पेयजल सप्लाई होती है। पॉलिटेक्निक कालेज के सामने दो जगह पर पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हुआ। इसके अलावा मालवीयनगर चौक, साइंस कालेज के पहले स्थित पेट्रोल पंप और राजेन्द्र पार्क चौक की पाइप लाइन को नुकसान पहुंचा। पहले ही कई जगह ऐसा हो चुका।

अमृत मिशन का काम भी अटका, नहीं बिछी पाइप
शहर में अमृत जल मिशन के तहत 147 करोड़ की लागत से करीब 443 किलोमीटर पाइप लाइन बिछाई जा रही है। 6 नई पानी टंकियों का भी निर्माण किया जा रहा है। ये कार्य भी प्रभावित हुए हैं। योजना के तहत 49500 में से 24750 घरों में नया कनेक्शन नहीं मिल सका है। 2017 में यह योजना प्रारंभ की गई। तीन माह के ट्रायल रन सहित कुल 30 माह का समय दिया गया था। अब 42 माह और 103 करोड़ का भुगतान के बाद भी पूरा नहीं हो पाया है।

कई वार्ड के लोगों को पर्याप्त नहीं मिल रहा पानी
पाइप लाइन में लीकेज के चलते सबसे ज्यादा पटरीपार का क्षेत्र प्रभावित हुआ है। टंकियों में जलभराव नहीं होने से गर्मी के इस समय में लोगों को कम पानी मिल पा रहा है। मुख्य रूप से शक्तिनगर वार्ड, सिकालोबस्ती वार्ड, गयानगर वार्ड, हरिनगर, कातुलबोड़, तितुरडीह, शांतिनगर, दीपक नगर के इलाके प्रभावित हैं। इसके अलावा लीकेज की समस्या के चलते पद्मनाभपुर व आसपास के क्षेत्रों में भी लगातार पेयजल की आपूर्ति प्रभावित हुई है। शिकायत के बाद उनका मेंटेनेंस कराया गया। इस बार मेन राइजिंग पाइप लाइन में लीकेज आने के बाद से दिक्कतें बढ़ गई हैं। शट डाउन लेकर उनका मेंटेनेंस किया जाना है।

हर्जाना मांगा है, फिलहाल विभाग से जवाब नहीं मिला
सड़क चौड़ीकरण के दौरान पेयजल पाइप लाइन को क्षति पहुंच रही है। इसकी वजह से गर्मी के दिनों में पेयजल आपूर्ति भी बाधित होती है। हमने पीडब्ल्यूडी को 10 लाख रुपए हर्जाना जमा करने के लिए पत्र दिया है। फिलहाल इसका जवाब नहीं मिला है।
-हरेश मंडावी, आयुक्त नगर निगम दुर्ग

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें