लापरवाही / धान के घटिया बीज की सप्लाई, 9 सैंपल फेल, 170 क्विंटल की वापसी

X

  • कृषि विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई, 20 समितियों हुई थी सप्लाई

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

दुर्ग. किसानों को वितरित होने वाले धान के बीज के 9 सैंपल अमानक पाए गए हैं। इसके चलते आनन-फानन में कृषि विभाग ने समितियों के माध्यम से किसानों को वितरित हुए अमानक बीज वापस लेना शुरू कर दिया है। 
कृषि विभाग ने करीब 600 क्विंटल के बीज का वितरण किया। संदेह के आधार पर जब बीच की जांच कराई गई, तो यह अमानक मिले। इस बीच का जिले की करीब 20 समितियों में इस घटिया बीज का वितरण हो गया। इसके चलते अब कृषि विभाग ने वितरण में रोक लगा दी। साथ ही करीब 170 क्विंटल बीज वापस बुलाया है।
किसानों से हो रही पतासाजी, वापस मंगाए वितरित बीज
खरीफ के सीजन धान की बुवाई के लिए समितियों के माध्यम से बीच का वितरण किया गया। इसका समितियों में भंडारण भी किया गया है, ताकि किसानों को समय रहते इसे उपलब्ध कराया जा सके। लगातार मिल रही शिकायत के बाद अलग-अलग किस्म के धान बीजों की पिछले महीने सैंपल ली गई। इस दौरान करीब 100 से सैंपल जांच के लिए लैब भेजे गए। 58 की रिपोर्ट आने पर उसमें से 9 सैंपल अमानक निकले। इस बीच जानकारी हुई कि करीब 20 समितियों के माध्यम से किसानों तक 600 क्विंटल से ज्यादा अमानक बीज वितरित हो गया। इसके बाद हड़कंप मच गया। जानकारी के तत्काल समितियों पत्र लिखकर बीज किसानों से वापस लेने के आदेश जारी किय गयाा। ऐसे किसानों को खोजा जा रहा है।
वापस मंगा लिया गया है धान के बीच, होगी जांच
"बीज के परीक्षण के बाद जहां बीज की गुणवत्ता खराब मिली, उन समितियों से बीज वापस मंगा लिया गया है। जिन किसानों को वितरित किया गया है, उनके बारे में पतासाजी की जा रही है।"
-अश्वनी बंजारे, उप संचालक कृषि विभाग दुर्ग

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना