खैरागढ़ में पहले जनादेश हुआ टाई:रीकाउंटिंग में एक वोट निरस्त होने से कांग्रेस जीती; भाजपाइयों ने किया हंगामा, कुर्सियां तोड़ीं

खैरागढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भिलाई : पुलिस से भिड़ी कांग्रेस प्रत्याशी रीता गेरा। - Dainik Bhaskar
भिलाई : पुलिस से भिड़ी कांग्रेस प्रत्याशी रीता गेरा।

खैरागढ़ नगर पालिका चुनाव में गुरुवार को हुई मतगणना में जनादेश टाई हो गया। वोटर्स ने दोनों ही दलों को स्पष्ट बहुमत नहीं दिया। कांग्रेस के 10 और भाजपा के 10 प्रत्याशी को जीत मिली है। ऐसे में अध्यक्ष के लिए दोनों ही दलों में पेंच फंस गया है। जीत के बाद ही दोनों दलों ने अपने प्रत्याशियों को अज्ञात जगह पर शिफ्ट कर दिया है। इधर रीकाउंटिंग में भाजपा प्रत्याशी का एक वोट निरस्त हो गया।

इसके बाद कांग्रेस के प्रत्याशी को विजयी घोषित कर दिया गया। इससे कांग्रेस को 11 जबकि भाजपा को 9 सीटों पर जीत मिली। इसकी जानकारी मिलते ही भाजपा नेताओं ने जमकर हंगामा किया। मतगणना केंद्र में रखी कुर्सियां तोड़ दी और नारेबाजी भी की। दरअसल राजफेमिली वार्ड 4 के कांग्रेस और भाजपा प्रत्याशी को समान वोट मिले थे। इसके बाद रीकाउंटिंग की घोषणा हुई। लेकिन रिकाउंटिंग के दौरान भाजपा प्रत्याशी के एक वोट को अवैध बताकर निरस्त कर दिया गया। कांग्रेस प्रत्याशी के जीत की घोषणा होते ही भाजपाइयों का गुस्सा फूट पड़ा। जिला पंचायत उपाध्यक्ष विक्रांत सिंह के साथ भाजपाई नारेबाजी करते हुए मतगणना केंद्र के बाहर घुस गए।

खैरागढ़ : भाजपाइयों ने की तोड़फोड़।
खैरागढ़ : भाजपाइयों ने की तोड़फोड़।

जामुल : कांग्रेस के टिकट पर जीती मां जबकि बेटी ने निर्दलीय जीता चुनाव
जामुल नगर पालिका परिषद में मां और बेटी पार्षद बन गई है। वार्ड क्रमांक 12 से सुनीता चेन्नेवार ने जीत दर्ज की है जो वार्ड क्रमांक 8 की निर्दलीय प्रत्याशी निशा चेन्नेवार की मां है। सुनीता चेन्नेवार कांग्रेस प्रत्याशी हैं। निशा ने वार्ड क्रमांक 8 से कांग्रेस का टिकट मांगा था। पार्टी ने परिवार के दो लोगों को टिकट देने में असमर्थता जाहिर की। तब निशा ने निर्दलीय ही चुनाव मैदान में लड़ने का फैसला किया।

रिसाली : 24 साल से एक घर में खाना बनाने वाली ममता बनी पार्षद
ममता यादव रिसाली के वार्ड नंबर 4 से चुनाव जीत गई हैं। उनके पति ललित यादव ने बताया कि स्वभाव से स्वाभिमानी होने की वजह से ममता को खाली बैठना उसे गवारा नहीं था। लिहाजा भिलाई सेक्टर 10 में रहने वाले शर्मा परिवार के यहां खाना बनाने का काम करने लगी। पिछले 24 साल से वे इस घर में खाना बना रही हैं। चार साल पहले मितानिन के काम के लिए भी उसका चयन हो गया। राजनीति की सक्रिय पारी कांग्रेस के साथ शुरू की। वर्तमान में वे पार्टी के वार्ड अध्यक्ष हैं। चुनाव में महिला वर्ग के लिए आरक्षित होने के बाद जब प्रत्याशी की तलाश शुरू हुई तब मितानिन के रूप में वार्ड में मरीजों की सेवा ने उसे चुनाव में जीत दिला दी।

खबरें और भी हैं...