पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुरलीपुरा में दूषित भोजन से बीमार होने का मामला:दूसरे दिन मरीजों की संख्या 108 पहुंची, एक बेड पर 2 को लिटाया, 21 सिकराय व 2 दौसा रेफर

मानपुर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • चिकित्सा विभाग ने गांव में खोला अस्थायी हॉस्पिटल

ग्राम पंचायत पांचोली के मुरलीपुर गांव में आयोजित एक शादी समारोह में दूषित खाना खाने से बीमार हुए लोगों के उपचार के लिए बुधवार को चिकित्सा विभाग ने गांव में ही अस्थायी अस्पताल खोल दिया। यहां से 21 गंभीर मरीजों को राजकीय अस्पताल सिकराय में भर्ती कराया, जहां से 2 महिलाओं को जिला अस्पताल दौसा रेफर कर दिया।

दूसरे दिन मरीजों की संख्या बढ़कर करीब 108 तक पहुंच गई, जबकि चिकित्सा विभाग ने 87 लोगों के उपचार की बात कही है। ज्ञात हो कि गांव में 18 जुलाई को हुई विजयसिंह गुर्जर की बेटियों की शादी के दौरान एक दिन पहले आयोजित मांड़े में पूरे गांव का जीमण कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इसमें लोगों ने लड्डू, पुरी, सब्जी एवं दाल बड़े (चांदी) खाए थे। जीमण के दूसरे दिन से लोगों को उल्टी-दस्त व पेट दर्द की शिकायत हुई तो नीम-हकीम व निजी डॉक्टरों से उपचार करवा लिया, लेकिन सुधार नहीं हुआ तो मंगलवार शाम चिकित्सा विभाग को सूचना दी गई।

देर शाम पहुंची मेडिकल टीम ने देर रात तक घर-घर जाकर 50 से अधिक बीमार लोगों का उपचार किया। दूसरे दिन बुधवार को भी सिकराय व मानपुर की अलग-अलग 3 मेडिकल टीमें बनाकर मुरलीपुर, शेखपुर गांव व ढाणियों में बीमार लोगों के उपचार के लिए लगाई गई। मेडिकल टीमों ने घर-घर जाकर उपचार किया। ब्लॉक सीएमएचओ डॉ. अमित मीना ने भी जायजा लेकर मेडिकल टीमों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बताया कि बीमार हुए लोगों की तबीयत में फिलहाल सुधार है।

मेडिकल टीमों ने घरों पर ही लगाई बीमारों को ड्रिप
मुरलीपुर एवं शेखपुर गांव में मानपुर अस्पताल प्रभारी डाॅ. नीरज बैरवा एवं सिकराय के डाॅ.मनोज महाना के नेतृत्व में पहुंची 3 मेडिकल टीमों ने घर-घर जाकर उल्टी-दस्त एवं पेट दर्द के मरीजों को ड्रिप लगा कर उपचार शुरू किया।

मेडिकल टीमों ने घरों पर ही लगाई बीमारों को ड्रिप
मुरलीपुर एवं शेखपुर गांव में मानपुर अस्पताल प्रभारी डाॅ. नीरज बैरवा एवं सिकराय के डाॅ.मनोज महाना के नेतृत्व में पहुंची 3 मेडिकल टीमों ने घर-घर जाकर उल्टी-दस्त एवं पेट दर्द के मरीजों को ड्रिप लगा कर उपचार शुरू किया।

मेडिकल टीमों ने घरों पर ही लगाई बीमारों को ड्रिप
मुरलीपुर एवं शेखपुर गांव में मानपुर अस्पताल प्रभारी डाॅ. नीरज बैरवा एवं सिकराय के डाॅ.मनोज महाना के नेतृत्व में पहुंची 3 मेडिकल टीमों ने घर-घर जाकर उल्टी-दस्त एवं पेट दर्द के मरीजों को ड्रिप लगा कर उपचार शुरू किया।

87 मरीजों का उपचार किया : डॉ. मीणा
ब्लॉक सीएमएचओ डॉ.अमित मीणा के अनुसार दूषित भोजन की वजह से बीमार होने की सूचना के बाद मुरलीपुर व शेखपुर गांव में तीन मेडिकल टीमों ने 87 मरीजों का उपचार किया जिनकी स्थिति फिलहाल नियंत्रण में है। हालांकि सिकंदरा व गीजगढ़ अस्पताल की मेडिकल टीमों को भी अलर्ट मोड पर रखा गया था, लेकिन बुलाने की आवश्यकता नहीं पड़ी। जबकि लोगों का कहना था कि बीमार लोगों की संख्या करीब 108 तक पहुंच गई। इनमें से कुछ लोग दौसा व जयपुर भी उपचार करवा रहे हैं।

अस्पताल में बेड फुल कई मरीजों को बैंच व टेबल पर लिटाया
मुरलीपुर एवं शेखपुर 2 गांवों में प्राथमिक उपचार के बाद तीन मेडिकल टीमों ने 21 मरीजों को सिकराय अस्पताल रेफर कर दिया। एक साथ अस्पताल पहुंचे मरीजों से वार्ड में लगे बेड फुल हो गए। कई मरीजों को टेबल एवं बैंच पर लिटाकर ड्रिप लगाई गई लेकिन फिर भी जगह कम पड़ने पर एक बेड पर 2 मरीजों को लिटाकर उपचार शुरू किया गया। डॉ. गजराज मीना ने बताया कि 2 महिलाओं की गंभीर स्थिति को देखते हुए जिला अस्पताल दौसा रेफर कर दिया गया। बाकी मरीजों की स्थिति में सुधार है।

खबरें और भी हैं...