एहतियात जरूरी / स्क्रीनिंग में 1 कोरोना संदेहास्पद मिला कन्फर्म करने के लिए एम्स भेजा सैंपल

हर व्यक्ति की स्क्रीनिंग की जा रही है। क्वारेंटाइन या आइसोलेशन सेंटर भेज रहे हैं। हर व्यक्ति की स्क्रीनिंग की जा रही है। क्वारेंटाइन या आइसोलेशन सेंटर भेज रहे हैं।
X
हर व्यक्ति की स्क्रीनिंग की जा रही है। क्वारेंटाइन या आइसोलेशन सेंटर भेज रहे हैं।हर व्यक्ति की स्क्रीनिंग की जा रही है। क्वारेंटाइन या आइसोलेशन सेंटर भेज रहे हैं।

  • पड़ोसी जिलो में बढ़ रहा केस, वहां से आने-जाने का सिलसिला जारी

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 06:49 AM IST

भिलाई. कोरोना के स्क्रीनिंग टेस्ट में 1 संदेहास्पद मरीज मिला हैं। रैपिड किट से जांच करने पर इसकी जानकारी मिली है। स्क्रीनिंग टेस्ट में के रिजल्ट के बाद स्वास्थ्य विभाग ने उसे आइसोलेशन सेंटर में शिफ्ट कराया है। वहां से नेजल और थ्रोटल स्वाब लेकर कंफरमेंट्री जांच कराई गई है। 
रैपिड किट से जांच में इससे पहले जिले तीन और कोरोना संदेहास्पद मरीज मिल चुके हैं। लेकिन कंफरमेंट्री टेस्ट (आरटी-पीसीआर) में उन सबकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। क्विक स्क्रीनिंग के लिए रैपिड किट का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसमें जो भी संदेहास्पद केस मिल रहा है, उन्हें आइसोलेट करने के बाद कंफरमेंट्री जांच कराई जा रही है। अपने पड़ोसी जिलों में कोरोना का केस बहुत तेजी से बढ़ रहा है। वहां से लोगों के आने-जाने का सिलसिला जारी रहने से यहां भी संक्रमण की आशंका पैदा हो गई है। जिला प्रशासन इसे ध्यान में रखते हुए जिले की सिमाओं पर स्क्रीनिंग को और सख्त कर दिया है। ट्रू-नॉट विधि से मिले कोरोना के संभावित 3 मरीजों की रिपोर्ट अभी नहीं आई है। इन सबके सैंपल लेकर कंफरमेट्री जांच के लिए भेजा गया था। 
एम्स से छुट्टी के बाद क्वारेंटाइन मरीज घर गए
3 मई को मिले 8 कोरोना पॉजीटिव मरीजों में से 6 शनिवार को घर भेज दिए गए। एम्स से छुट्टी के बाद इन्हें 14 दिनों के लिए सेक्टर-4 के क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया था। इन 8 में से एक मरीज की सबसे पहले छुट्टी हो गई थी। वह होम क्वारेंटाइन में ही था। अब एम्स से डिस्चार्ज दो मरीज ही क्वारेंटाइन में हैं।
कोरोना के 678 संदिग्धों की रिपोर्ट अभी नहीं आई
जिले में मिले 678 कोरोना संदिग्धों की रिपोर्ट अबतक नहीं आई है। इसमें से 268 सैंपल संभावित मरीजों के और 410 संदेहास्पदों के हैं। मरीजों की संख्या में तेजी आने से रायपुर में बैकलॉग बढ़ रहा है। दोनों सेंटरों क्रमश: एम्स और मेडिकल कॉलेज में पेंडिंग सैंपलों की कुल संख्या 643 सैंपल हो गई है।
संभावित की रिपोर्ट नहीं आई, कोई नया पॉजीटिव 
"स्क्रीनिंग के दौरान पूर्व मिले कोरोना संभावितों की कंफरमेंट्री रिपोर्ट अभी नहीं आई है। सबको आइसोलेशन सेंटर में रखा गया है। स्क्रीनिंग के लिए रैपिड किट के साथ ही ट्रू-नॉट का इस्तेमाल किया जा रहा है। जिले में कोई कोराेना पॉजिटिव नहीं है।"
डॉ. गंभीर सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अिधकारी, दुर्ग।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना