YONO ऐप डाउनलोड करते ही उड़ गए पैसे:​​​​​​​बैंककर्मी ने किया था इंस्टाल, बिना OTP बताए ही खाते से 10 लाख गायब; धोखाधड़ी का केस दर्ज

भिलाई13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़ित का कहना है कि ऐप डाउनलोड के बाद से उसके खाते से पैसे गायब हैं। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
पीड़ित का कहना है कि ऐप डाउनलोड के बाद से उसके खाते से पैसे गायब हैं। (फाइल फोटो)

दुर्ग में एक रिटायर्ड रेलवे कर्मचारी के साथ धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। रिटायर्ड कर्मचारी का आरोप है कि बिना ओटीपी बताए उसके खाते से साढ़े 10 लाख रुपए से अधिक की रमक ऑनलाइन निकल ली गई। भिलाई तीन पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ धारा 420 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

थाना प्रभारी विनय सिंह ने बताया कि पंचशील नगर बीएमवाय चरौदा निवासी वीएस शर्मा (62 वर्ष) रेलवे से रिटायर्ड कर्मचारी हैं। भिलाई तीन की एसबीआई पदुमनगर ब्रांच में उनका खाता है। उस खाते में रिटायरमेंट का लाखों रुपए जमा था। 15 दिसंबर की सुबह करीब 11.30 बजे वीएस शर्मा ने अपने खाते से 6 हजार रुपए निकाला था।

ऐप इंस्टाल के बाद से पैसे गायब

एक सप्ताह बाद वह फिर से एसबीआई बैंक पहुंचे और अपने मोबाइल में YONO ऐप (एसबीआई का ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करने वाला ऐप) बैंक के हेल्प डेस्क से डाउनलोड करवाने लगे। बैंक कर्मचारी ने जब उसके मोबाइल ऐप डाउनलोड कर दिया तो उसके बाद वह एसबीआई मशीन से अपनी पासबुक एंट्री करने पहुंच गया। एंट्री हो जाने के बाद उसने देखा कि उसके खाते पर जीरों बैलेंस था। ये देखकर वह हैरान रह गया।

इसके बाद वीएस शर्मा हड़बड़ा गया और सीधे बैंक मैनेजर को पास पहुंचा और इसकी शिकायत की। बैंक मैनेजर ने अपने कंप्यूटर देखा कि उसके खाते से 10 लाख 53 हजार 699 रुपए निकाल लिया गया है। शर्मा का कहना है कि उसी बैंक में उनकी तीन एफडी हैं। वह उसी तरह हैं। उसके खाते से ऑनलाइन ट्रांजेक्शन हुआ तो बिना ओटीपी रकम कैसे निकल गई। इसी शिकायत को लेकर पुलिस ने मामले में धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज किया है। इब इस मामले की जांच साइबर सेल करेगी।

खबरें और भी हैं...