पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोर्ट का फैसला:प्रलोभन देकर नाबालिग का अपहरण व दुष्कर्म करने वाले को कोर्ट से 10 साल का कारावास

भिलाई4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नाबालिग से शादी का प्रलोभन तक दुष्कर्म करने वाले अरुण कुमार जांगड़े को कोर्ट ने पॉक्सो एक्ट के तहत 10 साल की सजा सुनाई। आरोपी को कोर्ट ने धारा 363 और 366 के तहत 3-3 साल की सजा सुनाई। आरोपी पर 15 सौ रुपए का अर्थदंड भी लगाया। पैसा जमा नहीं करने पर दो वर्ष की सजा भुगतने का आदेश दिया। यह फैसला न्यायाधीश सरिता दास की कोर्ट ने सुनाया है। लोक अभियोजक कमल किशोर वर्मा ने बताया कि मामला अंडा थाना क्षेत्र का है।

फरवरी 2017 में पीड़िता के पिता ने पुलिस को शिकायत की थी। पिता ने पुलिस को बताया था कि उसकी नाबालिग बेटी 12 फरवरी की रात से घर से गायब है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर अज्ञात के खिलाफ धारा 363 के तहत केस दर्ज कर लिया था। पुलिस ने केस दर्ज करने के दो दिन बाद आरोपी को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था।

इसके बाद पूरी जांच कर प्रकरण न्यायालय में विचारण के लिए प्रस्तुत किया गया। जहां से आरोपी पर दोष सिद्ध पाया गया। इसके बाद कोर्ट ने 10 साल के कारावास की सजा सुनाई।

खबरें और भी हैं...