• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Durg bhilai
  • 20 Days, 6 Incidents Of Chain Snatching, One Robber In Bhilai; Chhattisgarh Women Police Doing Duty In Guise Af An Elderly Person To Catch Robber In Bhilai

चेन स्नेचर को पकड़ने के लिए बुजुर्ग बनी पुलिस:20-25 साल की महिला पुलिसकर्मियों को मेकअप कर 60 का बनाया, लुटेरे को पकड़ने दिनभर भिलाई की सड़कों पर घूमती रहीं

भिलाई9 महीने पहले
लुटेरे को पकड़ने के लिए महिला पुलिसकर्मियों को बुजुर्ग के हुलिए में तैयार किया गया। बकायदा मेकअप भी हुआ।

छत्तीसगढ़ के भिलाई में पुलिस के लिए एक लुटेरा सिरदर्द बन गया है। महज 20 दिन में चेन स्नेचिंग की 6 वारदातें हो चुकी हैं। हर बार CCTV फुटेज में लूट के बाद एक ही बाइक सवार नजर आया। बस हर बार कपड़े अलग होते। अब उसे पकड़ने के लिए पुलिस ने अब जाल फैलाया है। महिला पुलिसकर्मियों को बुजुर्ग का गेटअप देकर उनकी ड्यूटी लगाई, लेकिन लुटेरा नहीं पकड़ा जा सका।

दो दिन पहले इसी लुटेरे ने रायपुर के डीडी नगर क्षेत्र में बुजुर्ग महिला से सोने की चेन लूटी थी।
दो दिन पहले इसी लुटेरे ने रायपुर के डीडी नगर क्षेत्र में बुजुर्ग महिला से सोने की चेन लूटी थी।

रायपुर और भिलाई में चेन लूटने वाला एक बदमाश
दरअसल, धमधा नाका और कुम्हारी टोल प्लाजा के साथ ITMS के CCTV कैमरों की रिकार्डिंग चेक करने के लिए टीम लगाई गई थी। जांच के दौरान पता चला कि लुटेरा सुबह 4 बजे शहर में आता है और 9 बजे तक वारदात को अंजाम दे भाग निकलता है। दो दिन पहले इसी लुटेरे ने रायपुर के डीडी नगर क्षेत्र में बुजुर्ग महिला से सोने की चेन लूटी थी। सभी घटनाओं में एक बात कॉमन थी। पहले वह महिलाओं से पता पूछता है और फिर लूटकर भाग जाता।

अलग-अलग पुलिस पार्टी बनाकर शहर के एंट्री और एग्जिट पॉइंट पर 200 से अधिक जवानों की ड्यूटी भी लगाई।
अलग-अलग पुलिस पार्टी बनाकर शहर के एंट्री और एग्जिट पॉइंट पर 200 से अधिक जवानों की ड्यूटी भी लगाई।

लूट के समय में पुलिस ने बढ़ाई गश्त, जवान तैनात
लुटेरे को पकड़ने के लिए 20 से 25 साल की महिला पुलिसकर्मियों को 55 से 60 साल की बुजुर्ग के हुलिए में तैयार किया गया। बाकायदा मेकअप भी हुआ। सेक्टर एरिया में उन्हें फूल तोड़ने और मॉर्निंग वॉक पर भेजा। प्रमुख सड़कों फॉरेस्ट एवेन्यू, सेंट्रल एवेन्यू और गैरेज रोड पर सादे कपड़ों में जवानों की तैनाती की गई। अलग-अलग पुलिस पार्टी बनाकर शहर के एंट्री और एग्जिट पॉइंट पर 200 से अधिक जवानों की ड्यूटी भी लगाई। यह सब सुबह 4.30 बजे से 9 बजे तक किया गया, पर बदमाश हाथ नहीं आ सका।

प्रमुख सड़कों फॉरेस्ट एवेन्यू, सेंट्रल एवेन्यू और गैरेज रोड पर सादे कपड़ों में जवानों की तैनाती की गई।
प्रमुख सड़कों फॉरेस्ट एवेन्यू, सेंट्रल एवेन्यू और गैरेज रोड पर सादे कपड़ों में जवानों की तैनाती की गई।

स्पेशल टीमें बनाकर दी गश्त की जिम्मेदारी
पुलिस ने लुटेरों को पकड़ने और वारदातों पर अंकुश लगाने के लिए तीन स्पेशल टीम बनाई है। वहीं पुलिस अब घटना के समय क्षेत्र में एक्टिव मोबाइल नंबरों की भी जानकारी जुटा रही है।

  • स्ट्राइक टीम : यह टीम बाइक से सेक्टर एरिया में गश्त करती है। लूट की घटना का पता चलने पर इस टीम को पीछा करने के लिए तैनात किया गया है।
  • हाका टीम : गाड़ियों में गश्त करती है। जिसे पुलिस की प्रेजेंस के लिए लगाया गया है। टीम सेक्टर एरिया में सायरन बजाकर घूमती रहती है।
  • कॉट ऑफ टीम : शहर के एंट्री और एग्जिट पॉइंट पर तैनात किया गया है।
पुलिस के मुताबिक लूट की सभी घटनाओं की स्टडी करने से पता चला है कि बदमाश दूसरे राज्य से आकर वारदातें कर रहा है।
पुलिस के मुताबिक लूट की सभी घटनाओं की स्टडी करने से पता चला है कि बदमाश दूसरे राज्य से आकर वारदातें कर रहा है।

दूसरे राज्य से आकर वारदात करने की शंका
पुलिस के मुताबिक लूट की सभी घटनाओं की स्टडी करने से पता चला है कि बदमाश दूसरे राज्य से आकर वारदातें कर रहा है। घटना करने के बाद वह ठिकाने पर पहुंच जाता है। सभी घटनाओं में उसका पैटर्न में एक जैसा ही है। उसकी बाइक का नंबर भी गलत निकला है। पुलिस ने रायपुर और दुर्ग जिले में लूट करने वाले सभी बदमाश और मुखबिरों को लुटेरे की तस्वीर दिखाई है।

खबरें और भी हैं...