पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bhilai
  • 325 Infected 16 Died In The Last 10 Days, The Risk Of Delta Variant, Doctors Said The Patient Needs To Pay Attention From The Beginning

दुर्ग में कोरोना के डेल्टा वैरिएंट का खतरा:पिछले 10 दिनों में 325 संक्रमित 16 की मौत, डाक्टर्स ने कहा- मरीज को शुरु से ही ध्यान देने की है जरूरत

दुर्ग3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना मरीजों की संख्या तो जरूर कम हुई है। लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। - Dainik Bhaskar
कोरोना मरीजों की संख्या तो जरूर कम हुई है। लेकिन खतरा अभी टला नहीं है।

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से कमी आ रही है।लेकिन जिले में औसतन हर दिन एक मरीज की मौत हो रही है। एक्सपर्ट डॉक्टर मान रहे है कि इसके पीछे कोरोना का डेल्टा वायरस हो सकता है। जिन लोगों को शुरु में इलाज मिल जा रहा है, वो तो तेजी से ठीक हो रहे है, लेकिन जो इलाज कराने में देरी करते है, उनको ज्यादा खतरा है।
कोरोना के डेल्टा वायरस से खतरा
देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने कहर बरपाया है। इस दौरान कोरोना के मरीजों को कई तरह के अलग साइड इफेक्ट दिखाई पड़ रहे हैं। ऐसे में अब डॉक्टर कोरोना के डेल्टा वैरिएंट के खतरे को और जानने की कोशिश कर रहे हैं। दरअसल कोरोना की दूसरी लहर के लिए देश में तेजी से फैलने वाले डेल्टा को ही काफी हद तक जिम्मेदार माना जा रहा है।
सिविल सर्जन डा0 बाल किशोर बताते है कि कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट सबसे अधिक खतरनाक है। अगर शुरु में मरीज को पकड़ लिया और इलाज सही नहीं मिला तो डेथ होना तय है। वायरस फैल जरुर नहीं रहा है, लेकिन जिनको एक बार पकड़ लिया है, उनके लंग्स, हार्ट व किडनी में खराबी आ रही है। वहां का खून जम जा रहा है, इलाज शुरू में सही तरीके से नहीं मिलने के कारण मौत हो जा रही है।
जिले में बचे 308 एक्टिव केस
कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या कम हुई है। नए मरीजों से अब तक मिले कुल मरीजों की संख्या 95 हजार 838 हो गई है। इसमें 93 हजार 749 मरीजों की रिकवरी और 1781 मरीजों की मौत हो जाने से एक्टिव मरीजों की संख्या 308 रह गई है।
CMHO डा0 गंभीर सिंह ठाकुर ने बताया कि जिले में 9 मरीजों का कोविड के अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। अधिकतर मरीजों का इलाज अपने घर पर ही हो रहा है, जो गंभीर रूप से बीमार और बुजुर्गों को है,उन्हें ही अस्पताल में भर्ती कराया गया है। और मरने वाले ज्यादातर पहले के ही मरीज है।
जिले में संक्रमण दर
स्वास्थ्य विभाग ने बुधवार को 2027 लोगों के सैंपल लिए थे। इनकी जांच करने पर एक प्रतिशत से अधिक यानी कि 34 सैंपल संक्रमित मिलें, और एक मरीज की मौत हुई थी। लगातार पिछले 10 दिनों से 1 व 2 प्रतिशत संक्रमण की दर बनी हुई है। वहीं जिले में 1 जून से लेकर 10 जून तक कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 325 और 16 की मौत हुई है।

खबरें और भी हैं...