पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आज से 3 दिनों तक केंद्रीय टीम दुर्ग में:प्रोटोकॉल के हिसाब से डेथ ऑडिट नहीं हुआ वायरस ट्रेंड बताने वाली रिपोर्ट भी तैयार नहीं

भिलाई6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना रोकथाम से लेकर 445 मौतों की होगी जांच, लेकिन पिछली गलतियों से सबक नहीं

कोरोना रोकथाम और इलाज के नाम पर जिले में लापरवाही जारी है। 445 मौतों के बाद भी जिम्मेदार न तो उनका कारण पता लगाने की कोशिश किए हैं, न ही वायरस का ट्रेंड जानने कोई डेटा माइनिंग की गई है। डेथ ऑडिट टीम ने मौत का कारण बताने की बजाय उनका डेटा बताने का काम किया है तो महामारी विशेषज्ञ कितने पॉजिटिव व कितने निगेटिव बताने तक ही सीमित हो गई है। मौत और वायरस का प्रकोप कम करने प्रोटोकाल अनुसार किसी ने कोई एक्सरसाइज नहीं की है, सभी नए मरीजों के पीछे भागते रहे हैं। दैनिक भास्कर की पड़ताल में यह बात सामने आई है। ऐसी लापरवाही तब भी की गई है, जबकि 8 सितंबर के पहले दौरे में दुर्ग पहुंची केंद्रीय टीम ने प्रोटोकाल अनुसार डेथ ऑडिट रिपोर्ट तैयार करने और वायरस का ट्रेंड जानने के लिए डाटा माइनिंग विद मैप, करने को कहा था। उनके गए 40 दिन बीत जाने के बाद भी किसी के पास उनके पुराने सवालों का भी सटीक जवाब नहीं है। 19 अक्टूबर को एक बार फिर केंद्रीय टीम जांच के लिए पहुंच रही है। इस बार टीम तीन दिन तक रहेगी। कोरोना संदिग्धों की जांच से इलाज तक की गतिविधियों की समीक्षा का प्लान तैयार किया है।

ऑडिट के लिए दो की ड्यूटी, एक पहुंचे ही नहीं..
जिले में होने वाली कोरोना से मौतों की ऑडिट कर कारणों को निकालने सीएमएचओ डॉ. गंभीर सिंह ने दो दिनों पहले जिन्हें दो विशेषज्ञ डॉक्टरों की ड्यूटी लगाई, उनमें से एक डॉ. के के जैन पहुंचे ही नहीं। दूसरे डॉ. आर के देवांगन ने जैसे-तैसे मौतों का पता किया। रविवार को दोनों डॉक्टरों को सुबह 7 बजे दफ्तर बुलाया था।

निजी अस्पतालों से दो दिन पहले ही मंगाई मौतों की फाइल..: कोरोना मरीजों के इलाज के लिए जिले में नामित 8 निजी अस्पतालों में से कुछ अस्पतालों में हुई मौतों की फाइल दो दिन पहले मंगाई गई है। ज्यादातर अस्पतालों से इसके बारे में अबतक कोई पूछ-ताछ भी नहीं हुई है।

शनिवार को एसीएस खुद पहुंची, फिर भी कोई परिवर्तन नहीं..: कोरोना के संदर्भ में डेथ ऑडिट रिपोर्ट को लेकर स्थानीय अधिकारियों को फटकार लगाने वाली एसीएस रेणु पिल्ले ने शनिवार को यहां पहुंचकर रोकथाम के गतिविधियों की समीक्षा की फिर भी कोई परिवर्तन नहीं हुआ।

आंकड़ों से समझिए कोरोना की स्थिति कैसी
14468 - कुल कोरोना मरीज
12239 - कुल रिकवर मरीज
2055 - कुल एक्टिव मरीज
445 - कोरोना से कुल मौतें

इधर जिले में 78 पॉजिटिव मिले, 2 की मौत भी हुई
भिलाई|रविवार को जिले में 78 नए कोरोना मरीज मिले हैं। इनसे कुल कोरोना मरीजों की संख्या 14629 हो गई है। 12239 मरीजों के रिकवर हो जाने से एक्टिव मरीजों की संख्या 2390 रह गई है। इसमें से 3207 मरीज अक्टूबर के 18 दिनों में मिले हैं। सितंबर की 30 तारीख तक जिले में मिले कुल कोरोना मरीजों की संख्या 11422 थी, 18 अक्टूबर तक यह बढ़ते हुए 14629 हो गया है। पॉजिटिव मरीजों के मिलने के अलावा 2 की मौत भी हुई है।

सीधी बात
डॉ. गंभीर सिंह, सीएमएचओ

सवाल - मौतों की डेथ ऑडिट रिपोर्ट तैयार हो गई है, उसमें कारण क्या निकला है?
-ऑडिट करने वालों ने लगभग सभी की ऑडिटिंग कर ली है। लेकिन प्रोटोकाल अनुसार उन्होंने सबके कारण स्पष्ट नहीं किए हैं। डेटा देने का काम किया है।
सवाल - यह तो लापरवाही है, उन्हें डेथ ऑडिट की जानकारी नहीं है, तो क्यों लगाया गया है?
-सभी विशेषज्ञ डॉक्टर हैं, उनसे बेहतर दूसरा नहीं कर सकता है। लापरवाही होने के कारण ही मैने अब उन्हें अपने कार्यालय में बैठकर ही ऑडिट करने को कहा है।
सवाल - वायरस का ट्रेंड, डबलिंग रेशियों, जिले में मरीजों की एवरेज ग्रोथ को जानने क्या हुआ?
-महामारी विशेषज्ञ डॉ. रितिका को इस संदर्भ में पहले ही निर्देश दिए गए थे। कल मैने उनसे सभी रिपोर्ट मांगी है। आने के बाद बता पाउंगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें