• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bhilai
  • Appealed To The Police Many Times, If The Hearing Is Not Done, Now The Victim's Family Will Go On Hunger Strike In Front Of The Chief Minister's Residence

VVIP जिले की पुलिस पर गंभीर आरोप:धोखाधड़ी का शिकार हुए परिवार ने कहा-कई बार कर चुके शिकायत, कोई नहीं सुन रहा; अब करेंगे भूख हड़ताल

भिलाई24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़ित परिवार ने कहा कि हमने सुपेला थाना पुलिस से कई बार शिकायत की है। इसके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। - Dainik Bhaskar
पीड़ित परिवार ने कहा कि हमने सुपेला थाना पुलिस से कई बार शिकायत की है। इसके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

छत्तीसगढ़ के सबसे VVIP जिले दुर्ग की पुलिस पर एक परिवार ने गंभीर आरोप लगाए हैं। परिवार का कहना है उनके साथ धोखाधड़ी की गई है। इसकी शिकायत हम सुपेला थाना पुलिस से लेकर SP, IG से कर चुके हैं। इसके बावजूद पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया है। साथ ही कोई कार्रवाई भी नहीं की गई है। इससे परेशान परिवार ने 10 नवंबर से भिलाई तीन स्थित मुख्यमंत्री निवास के सामने भूख हड़ताल करने का निर्णय लिया है।

रिसाली निवासी अजय चंदेल ने ने बताया कि भिलाई इस्पात संयंत्र में ठेकेदारी का काम करने वाले शिवलखन चौधरी ने उसके साथ धोखाधड़ी की है। अजय चंदेल ने बताया कि शिवलखन चौधरी की पत्नी गंगा देवी से उसने 2400 वर्ग फीट के जमीन को खरीदने का सौदा किया था। सौदा तय हो जाने के बाद उसने इकरारनामा कर शिवलखन और उसकी पत्नी को 75000 रुपए बयाना के रूप में दिया था। इसके बाद जब आरआई और पटवारी से जमीन का सीमांकन करवाया तो पता चला कि वह जमीन विवादित है और इसका मामला न्यायालय में लंबित है।

इस पर अजय ने शिवलखन से बयाना की रकम वापस करने को कहा तो वह लोग उसके साथ मारपीट और गाली गलौज पर उतारू हो गए। इसके बाद अजय ने 29 फरवारी 2016 को इस मामले की शिकायत सुपेला थाने में की थी। जब पुलिस ने मामले में कोई कार्रवाई नहीं की तो फिर से इसकी शिकायत 21 सितंबर 2021 को सुपेला थाने में की गई और एसपी व आईजी को भी शिकायत का आवेदन दिया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। इसके साथ ही अजय चंदेल का कहना है कि उसने कई बार मौखिक रूप से भी सुपेला थाने में शिकायत की, लेकिन कोई उसकी शिकायत पर ध्यान नहीं दे राह है।

सात आठ दिन पहले मिली शिकायत

इस बारे में जब सुपेला थाना प्रभारी सुरेश ध्रुव से बात की गई तो उन्होंने कहा कि उनके पास मामले की शिकायत 7-8 दिन पहले आई है। इससे पहले पीड़ित पक्ष ने कोई शिकायत की है तो उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। मामले की जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...