भास्कर इम्पैक्ट:भिलाई टाउनशिप में शुद्ध पेयजल को लेकर कलेक्टर ने दिए सख्त निर्देश, कहा- एक हफ्ते में सुधारें व्यवस्था, फिल्टर प्लांट को भी करें अपडेट

भिलाई7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भिलाई टाउनशिप में साफ पानी को लेकर अब कलेक्टर ने BSP प्रबंधन को निर्देश दिए है। उन्होने पानी की शुद्धता को भी देखा। - Dainik Bhaskar
भिलाई टाउनशिप में साफ पानी को लेकर अब कलेक्टर ने BSP प्रबंधन को निर्देश दिए है। उन्होने पानी की शुद्धता को भी देखा।

छत्तीसगढ़ के मिनी इंडिया में गंदे पानी से लोग परेशान है। पिछले एक महीने से लोग गंदे पानी को लेकर BSP (भिलाई स्टील प्लांट) के प्रबंधन से शिकायत कर रहे थे। लेकिन जब इस खबर को दैनिक भास्कर ने प्रमुखता से उठाया। उसके बाद अब कलेक्टर दुर्ग ने BSP के प्रबंधन को सख्त निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि एक हफ्ते के अंदर व्यवस्था को सुधारा जाए। साथ ही ग्रेड- 4 का एलम (पानी को शुद्ध करने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला फिटकरी) उपयोग करें और क्लोरिनेशन भी करें, साथ ही स्थायी राहत के लिए फिल्टर प्लांट को भी अपडेट किया जाए।

टाउनशिप में मिले साफ पानी

कलेक्टर डॉक्टर सर्वेश्वर भुरे ने कहा कि भिलाई टाउनशिप में लोगों को साफ पानी मुहैया कराना सबसे बड़ी जिम्मेदारी है। इसमें किसी तरह की कोताही नहीं होनी चाहिए। एक सप्ताह के भीतर टाउनशिप में साफ पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित करें। कलेक्टर ये आदेश मरौदा फिल्टर प्लांट के निरीक्षण के दौरान जलप्रबंधन से जुड़े BSP के अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि टाउनशिप एरिया में साफ गुणवत्तायुक्त पीने का पानी पहुंचाना सुनिश्चित किया जाए। प्री क्लोरिनेशन की जाए, साथ ही एलम की सही मात्रा उपयोग करते हुए ग्रेड 4 का एलम उपयोग करें। तीन दिन के अंदर एलम भिलाई नगर निगम की ओर से उपलब्ध करा दिया जाएगा।

गंदे पानी की कई बार शिकायतभिलाई में कोरोना संक्रमण के समय लोगों को पीने के लिए साफ पानी भी नहीं मिल पा रहा है, जिसकी कई बार शिकायत BSP के पानी सप्लाई करने वाले विभाग से की गई। लेकिन, कोई कार्रवाई अभी तक नहीं हुई। सोमवार को युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता बोतलों में गंदा पानी भरकर BSP प्रबंधन के पास पहुंचे थे। और पिछले हफ्ते ही भिलाई नगर विधायक देवेंद्र यादव ने भी BSP के अधिकारियों से मिलकर टॉउनशिप के नलों में आ रहे गंदे पानी के विषय पर चर्चा की थी। अधिकारियों को निर्देशित किया था कि वे जल्द ही साफ पानी की सप्लाई करें।

खबरें और भी हैं...