पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bhilai
  • Bhilai's Ruhi Is Still Waiting For Justice, Now Leader Of Opposition Dharam Lal Kaushik Has Written A Letter To The Health Minister, Died Five Days Ago, Chhattisgarh

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

2 महीने की रूही को इंसाफ का इंतजार:सिस्टम की लापरवाही के चलते हुई थी मासूम की मौत; 5 दिन बाद नेता प्रतिपक्ष ने स्वास्थ्य मंत्री को लिखा पत्र, पूछा- आखिरकार कौन जिम्मेदार है?

भिलाई6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में लचर सरकारी सिस्टम के चलते पांच दिन पहले 2 माह की बच्ची रूही की जान चली गई थी। स्वास्थ्य विभाग की इस बड़ी लापरवाही के बाद अब विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक ने पूरे मामले को लेकर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को पत्र लिख कर उच्चस्तरीय जांच की मांग की है।

विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने दो माह की बच्ची की मौत पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि इस दुख में हम सबको अधिक संवेदनशील होने की जरूरत है। लेकिन इस तरह से मासूम बच्ची की मौत समय पर उपचार नहीं मिलने से हुई है, जो तकलीफ दायक है। इस मामले की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। दुर्ग से रायपुर तक बच्ची के परिजन उपचार के लिये गुहार लगाते रहे। लेकिन समय पर उपचार नहीं मिलने से जिस तरह मौत हुई है। वह हृदयविदारक घटना है।

चिट्ठी में नेता प्रतिपक्ष ने स्वास्थ्य मंत्री से पूछा कि पूरे मामले के लिये आखिरकार कौन जिम्मेदार है? उन्होंने कहा कि मामले की उच्चस्तरीय जांच होनी ही चाहिए और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए, ताकि इस तरह की घटनाएं भविष्य में न हों। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में इस समय बच्चों के उपचार की अलग व्यवस्था करने की जरूरत है। इसके लिये प्रदेश सरकार को एक गाइडलाइन भी जारी करनी चाहिए।

सिस्टम के खिलाफ बच्ची के परिजन भी कर चुके शिकायत

मासूम बच्ची के परिजन इस पूरे मामले को लेकर जिला अस्पताल के खिलाफ पुलिस से लेकर CMHO तक हर जगह अपनी गुहार लगा चुके हैं। हर जगह बस दिलासा ही हाथ लगी है। चाहे वो पुलिस हो या फिर CMHO क्यों न हो। लेकिन पांच दिन बीत जाने के बावजूद अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई है। बहरहाल, अब नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक ने स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखकर दोषियों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। जिससे मासूम बच्ची के पीड़ित परिवार को न्याय मिल सके। साथ ही आपको बता दें कि इस पूरे मामले में पांच दिन पहले ही CMHO डॉक्टर गंभीर सिंह ठाकुर ने एक जांच समिति बनाकर जांच करवाने की बात भी कह चुके हैं। लेकिन इतना समय बीत जाने के बाद अभी तक कोई कार्रवाई शुरू तक नहीं हुई है।

क्या था पूरा मामला

पांच दिन पहले दो माह की बच्ची रूही को जिला अस्पताल दुर्ग में इलाज के लिए लाया गया था। बच्ची को बुखार और दस्त की शिकायत थी। अस्पताल की प्रारंभिक जांच में डाक्टरों ने कोरोना जांच कर रिपोर्ट को पॉजिटिव बताया। बच्ची के इलाज के बाद स्थिति न सुधरने और बच्चों के लिए वेंटिलेटर न होने के कारण रायपुर के जिला अस्पताल पंडरी में रेफर किया गया। लेकिन जब बच्ची के परिजन वहां पहुंचे तो अस्पताल की पर्ची पर कोविड पॉजिटिव लिखा था।

पंडरी अस्पताल ने यह कहते हुए बच्ची को भर्ती करने से मना कर दिया कि यह कोविड का अस्पताल नहीं है। बच्ची को मेकाहारा अस्पताल ले जाने की सलाह दी गई। यहां परिजन दर-दर भटकते रहे। इस बीच बच्ची ने एम्बुलेंस में ही दम तोड़ दिया था। जब परिजन बच्ची का अंतिम संस्कार करके वापस घर लौटे तब करीब 4 घंटे बाद मोबाइल पर रिपोर्ट निगेटिव आयी। इसके साथ यहां सिस्टम की एक और बड़ी लापरवाही सामने आयी थी कि रिपोर्ट में 2 माह की बच्ची रुही की उम्र 20 वर्ष बताई गई थी।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

और पढ़ें