वार्षिक ग्रेडिंग:सी-ग्रेड की बाध्यता समाप्त लंबे समय से कर रहे थे मांग

भिलाई8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भिलाई इस्पात संयंत्र के कार्यपालक वर्ग को वार्षिक ग्रेडिंग में 10 प्रतिशत कार्यपालकों को दिया जाने वाला कम्पल्सरी सी-ग्रेड को हटा दिया गया है। सेफी चेयरमेन एनके बंछोर से चर्चा के बाद सेल प्रबंधन द्वारा जारी आदेश के अनुरूप सी-ग्रेडिंग को 10 प्रतिशत से घटाकर मात्र 2 प्रतिशत तक सीमित कर दिया गया है।

यह आदेश वर्ष 2020-21 को दर्ज किए जाने वाले अधिकारियों के ईपीएमएस में लागू हो जाएगा। इस आदेश के अनुसार ओ-ग्रेड (आउटस्टेडिंग) 15 प्रतिशत, ए-ग्रेड (वेरीगुड) 40 प्रतिशत, बी-ग्रेड (गुड) 40 प्रतिशत तथा सी-ग्रेड (औसत से कम) सिर्फ 2 प्रतिशत कार्यपालकों को दिया जा सकेगा। सेफी चेयरमेन एनके बंछोर ने बताया कि सेफी सी-ग्रेडिंग को हटाने के लिए लंबे समय से प्रयासरत था। इस मुद्दे पर लंबे संघर्ष के बाद सफलता मिली है। सी-ग्रेडिंग के हटाए जाने से पूरे सेल में हजारों कार्यपालक लाभान्वित होंगे। साथ ही लोगों को बेहतर कार्य करने की प्रेरणा मिलेगी। इसके अतिरिक्त सी-ग्रेड हटने से पीआरपी आदि में होने वाले वित्तीय क्षति से निजात मिलेगी। एक सकारात्मक कार्य वातावरण बनाने में यह सहायक सिद्ध होगा।

खबरें और भी हैं...