पुलिस विभाग बना रोल मॉडल:2020 में कोरोना से जिन पुलिस कर्मियों ने जान गंवाई, उनमें से 33 केस में आवेदन के 25 दिनों में ही अनुकंपा नियुक्ति

भिलाई6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 2021 में जिनकी मौत हुई..उनकी प्रक्रिया शुरू

कोरोना संक्रमण के इस दौर में पुलिस जवान फ्रंट लाइन वॉरियर्स बनकर ड्यूटी पर तैनात हैं। अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभा रहे हैं। संकट के इस घड़ी में ड्यूटी के दौरान सालभर के अंदर 33 पुलिस जवानों की कोरोना संक्रमण की वजह से जान चली गई।

वर्ष 2020 में यह मौतें हुईं। इतना नहीं इस साल यानी वर्ष 2021 में 28 अप्रैल की स्थिति में 25 पुलिस कर्मी की मौत कोरोना से हुई है। इन सबके बीच पुलिस विभाग अपने मृत जवानों के परिजनों को नौकरी दिए जाने के मामले में प्रदेश में रोल मॉडल बना है। आवेदन के महज 25 दिनों के अंदर ही 33 जवानों की अनुकंपा नियुक्ति दे दी गई। इतना ही नहीं इस साल जिन 25 जवानों की मौत हुई, उनके परिजनों की अनुकंपा नियुक्ति को लेकर प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। वर्ष 2020 में दुर्ग, रायपुर और राजनांदगांव में 9 पुलिसकर्मी की मौत हुई। उनके परिजनों को 25 दिनों में ही नौकरी दी गई। इस वर्ष के प्रकरणों में प्रक्रिया जारी है।

लॉकडाउन और कोरोना संक्रमण ने बदल दिया ड्यूटी का पैटर्न

पुलिस विभाग के मुताबिक वर्ष 2020 में लॉकडाउन की घोषणा के बाद से पुलिस की ड्यूटी में भी बदलाव आया है। अपराध नियंत्रण के साथ सामाजिक जिम्मेदारी भी बढ़ गई। पुलिस क्राइम प्रिवेंशन और डिटेक्शन के साथ सोशल पुलिसिंग में लग गई। कोविड के नियमों का पालन कराने के लिए गली मोहल्लों में पुलिस पहुंचकर लोगों को जागरूक कर रही। मास्क लगाने, सैनिटाइजर के उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग के लिए प्रेरित कर रही है।

बटालियन और मुख्यालय में पदस्थ कर्मियों की भी मौत, लगातार होते रहे हैं संक्रमित
वर्ष 2020 में जिले में पदस्थ 18 पुलिस जवानों की मौत हुई। इसके साथ 15 जवान वो हैं जो बटालियन और पुलिस मुख्यालय में पदस्थ थे। इस साल 28 अप्रैल तक 22 कर्मियों की मौत हुई। अन्य 3 बटालियन से हैं।

1 डीएसपी, 5 एएसआई सहित अन्य की मौत

वर्ष 2020 में जान गंवाने वालों में डीएसपी से लेकर आरक्षक तक शामिल है। अब तक रायपुर में पदस्थ एक डीएसपी, 5 एएसआई, 8 प्रधान आरक्षक और 2 आरक्षक की मौत हो चुकी है। इनमें बटालियन में पदस्थ आरक्षक से लेकर बड़े अधिकारी शामिल हैं।

33 जवानों की अनुकंपा नियुक्ति प्रक्रिया पूरी की

वर्ष 2020 में कोरोना संक्रमण के कारण राज्य के अलग अलग जिले में पदस्थ 33 जवानों की मौत हो गई थी। लॉकडाउन के दौरान कम समय में प्रक्रिया पूरी कर अनुकंपा नियुक्ति दी गई है। वर्ष 2021 में कई जिलों में अधिकारी और जवान की संक्रमण से मौत हुई है। इनकी सूची भी बनाकर मुख्यालय भेजी जा रही है। -राजेश अग्रवाल, नोडल अधिकारी छत्तीसगढ़

खबरें और भी हैं...