• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bhilai
  • Corona Guidelines Were Blown Up At The Vaccination Center, The Crowd Was So Much That People Stood Next To Each Other, Such Negligence Will Be Heavy.bhilai

एक ही सेंटर पर वैक्सीन के लिए पहुंचे 700 लोग:भिलाई में इकलौते सेंटर में हो रहा था टीकाकरण इसलिए जमा हो गई भीड़; एक दूसरे से सटकर घंटों खड़े रहे

भिलाई3 महीने पहले
यह नजारा भिलाई के कर्मा विद्यालय के वैक्सीनेशन सेंटर का है। जहां लोग सोशल डिस्टेंसिंग को भूल कर नियमों की धज्जियां उड़ा रहे है।

कोरोना संक्रमण से बचने वैक्सीन कितनी जरूरी है, ये बताने की आवश्यकता नहीं है। यही वजह हे कि लोग भी बड़े उत्साह के साथ वैक्सीन लगवा रहे हैं। लेकिन इस उत्सु्क्ता के बीच वो नियम-कायदे भूल रहे हैं। जिसकी तस्वीर भी अब सामने आई है। जहां भिलाई के वैक्सीनेशन सेंटर में वैक्सीन लगवाने एक साथ 700 लोगों की भीड़ जमा हो गई। इस भीड़ में लोग एक दूसरे के साथ सटकर घंटों खड़े रहे और कोरोना गाइडलाइन की जमकर धज्जियां उड़ीं। इसके बावजूद किसी ने इस पर ध्यान नहीं दिया है।

वैक्सीन की किल्लत है, इसलिए एक जगह पर वैक्सीनेशन

दरअसल, दुर्ग जिले में कोरोना वैक्सीन की किल्लत लगातार बनी हुई है। इसी वजह से शुक्रवार को भिलाई में सिर्फ कर्मा विद्यालय में वैक्सीनेशन किया जा रहा था। जिसमें सुपेला समेत आसपास के इलाकों से करीब 700 लोग पहुंच गए। सुबह से ये लोग अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे।

बारिश हुई तो इस तरह का नजारा था।
बारिश हुई तो इस तरह का नजारा था।

बारिश हुई तो छाता निकालकर खड़े रहे

यहां जितने वायल बचे हुए थे, उतने को वैक्सीन के लिए टोकन बांटे गए। बाकी अपनी बारी का इंतजार करते हुए घंटों कतार में ही खड़े रहे। अचानक से बारिश भी हुई पर फिर भी वैक्सीनेशन के लिए लोगों का उत्साह बना रहा। लेकिन जो परेशान करने वाली बात यहां दिखी वे ये थी कि लोग लाइन में एक दूसरे से सटकर खड़े रहे। इसके अलावा कई लोगों ने तो मास्क पहनना भी जरूरी नहीं समझा था।

वैक्सीन का संकट फिर गहराया:दुर्ग को कोवीशील्ड के 20 हजार डोज मिले, एक दिन में ही 19,532 खत्म, आज 5 सेंटर पर लगेगा टीका; एक्टिव केस 97 हुए

जिम्मेदार बोले-हमने अपील की है

इधर, जब भास्कर ने जिम्मेदारी अधिकारियों से बात करना चाहा तो वे भी कुछ भी बोलने से बचते रहे। बस इतना ही कहा कि हमने लोगों से अपील की है कि वो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और मास्क अनिवार्य रूप से लगाएं। लेकिन जिस तरह से वैक्सीनेशन सेंटर पर लापरवाही की गई है, आने वाले समय में स्थिति खराब हो सकती है।

दूसरी लहर यहीं से हुई थी शुरू

दुर्ग ही प्रदेश का ऐसा जिला था। जहां से कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का दौर शुरू हुआ था। यहां पर कोरोना ने जमकर तांडव मचाया था। इसी वजह से प्रशासन इस बार सख्ती के मूड में है। पर एक बार फिर से इस तरह की लापरवाही ने चिंता बढ़ा दी है। उधर, रिसाली निगम क्षेत्र के वार्ड-23 आशीष नगर पश्चिम में एक ही परिवार के चार लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के चलते गुरुवार को उसे क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया। इसके अलावा दुर्ग निगम क्षेत्र के बोरसी में बम्लेश्वरी कॉलोनी में एक ही परिवार के तीन लोग संक्रमित पाए गए। जिसके बाद जिला प्रशासन ने गुरुवार को इस क्षेत्र को भी कंटेनमेंट जोन बना दिया।

कंटेनमेंट जोन रिटर्न:दुर्ग और रिसाली में मिले कोरोना पॉजिटिव मरीज, एक परिवार में 4 और दूसरे में 3, क्षेत्र को किया गया सील

जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति
जिले में फिलहाल कोरोना मरीजों के मिलने की दर स्थिर बनी हुई है। रिकवरी रेट 98 प्रतिशत के करीब है। जिले में अब तक कुल 96,506 कोरोना संक्रमित मिले हैं। इनमें से 94,618 रिकवर हो गए है। वहीं 1791 मरीज की मौत हो गई। जिले में अभी 97 एक्टिव मरीज हैं।

खबरें और भी हैं...