कंटेनमेंट जोन रिटर्न:दुर्ग और रिसाली में मिले कोरोना पॉजिटिव मरीज, एक परिवार में 4 और दूसरे में 3, क्षेत्र को किया गया सील

भिलाई3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दुर्ग के बम्लेश्वरी कॉलोनी व रिसाली के आशीष नगर पश्चिम को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया। - Dainik Bhaskar
दुर्ग के बम्लेश्वरी कॉलोनी व रिसाली के आशीष नगर पश्चिम को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया।

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में कोरोना संक्रमण धीरे-धीरे पांव पसारने लगा है। कोरोना मरीजों की संख्या एक बार फिर से चिंताजनक हो रही है। जिला प्रशासन ने रिसाली और दुर्ग निगम क्षेत्र के एक-एक वार्ड को कंटेनमेंट जोन बनाया है।
जिले के रिसाली निगम क्षेत्र के वार्ड-23 आशीष नगर पश्चिम में एक ही परिवार के चार लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं दुर्ग निगम क्षेत्र के बोरसी में बम्लेश्वरी कॉलोनी में एक ही परिवार के तीन लोग संक्रमित पाए गए है।
नगर निगम रिसाली के कमिश्नर प्रकाश सर्वे ने बताया कि पहले आशीष नगर पश्चिम में पहले तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। बुधवार को एक और की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसलिए उस क्षेत्र को कंटेनमेंट बना दिया गया है। सुरक्षा की दृष्टि से वहां बेरिकेडिंग की गई है।
वहीं नगर निगम दुर्ग में बोरसी के बम्लेश्वरी कॉलोनी को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। यहां भी एक ही परिवार के तीन लोग संक्रमित मिले है। इनकी ट्रैवल हिस्ट्री का भी प्रशासन पता कर रहा है।
कंटेनमेंट जोन में क्या खुला, क्या बैन

  • चिन्हांकित क्षेत्र के अंतर्गत सभी दुकानें और अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद।
  • प्रभारी अधिकारी द्वारा कंटेनमेंट जोन में घर पहुंच सेवा के माध्यम से आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की जायेगी।
  • कंटेनमेंट जोन के अंतर्गत सभी प्रकार के वाहनों पर प्रतिबंध रहेगा।
  • मेडिकल इमरजेंसी को छोड़कर अन्य किसी कारणों से बाहर निकलना प्रतिबंधित रहेगा।
  • जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा संबंधित क्षेत्र में स्वास्थ्य की निगरानी और निर्देश के अनुसार सैंपल जांच के लिए लिये जाएंगे।
  • कंटेनमेंट जोन की निगरानी लगातार पुलिस पेट्रोलिंग की जायेगी।

कोरोना संक्रमित 100 एक्टिव मरीज
जिले में कोरोना मरीजों के मिलने की दर स्थिर बनी हुई है। वहीं रिकवरी रेट भी बढ़ा है। फिलहाल रिकवरी रेट 98 प्रतिशत के करीब है। अब तक जिले में कुल 96,499 कोरोना संक्रमित मिले हैं। इनमें से 94,608 रिकवर हो गए हैं। और 1791 मरीज की मौत हो गई। जिले में अभी भी 100 एक्टिव मरीज मौजूद है।

खबरें और भी हैं...