निकाय चुनाव में जीत के लिए पूजा-पाठ का सहारा:कई प्रत्याशी करा रहे गुप्त रूप से अनुष्ठान; बोले-वार्ड की खुशहाली और शांति के लिए ये जरूरी

भिलाईएक महीने पहले

दुर्ग जिले में तीन नगर निगम, एक नगर पालिका और एक पंचायत का चुनाव है। इसके लिए पार्षद प्रत्याशियों का प्रचार प्रसार पूरे सबाब पर है। कई प्रत्याशियों को जीत का भरोसा है तो कई अपनी जीत के लिए भगवान से मन्नत करने लगे हैं। प्रत्याशी पंडितों को बुलाकर अपनी जीत के लिए हवन-अज्ञ करवाकर अपनी जीत के लिए भगवान से मन्नत मांग रहे हैं।

वहीं लोग उनकी आस्था को स्वार्थ न समझें इसके लिए वह कह रहे हैं कि यह हवन यज्ञ वार्ड की खुशहाली और शांति के लिए करवाया जा रहा है। वार्ड की शांति के लिए ये जरूरी है। खैर कुछ भी हो, लेकिन इस चुनावी माहौल में पंडितों की एडवांस बुकिंग जोरों पर है। बताया गया है कि 100 से अधिक प्रत्याशी चंडी मंदिर, शीतला मंदिर, काली मंदिर, दुर्गा मंदिर और शिव मंदिर में अनुष्ठान करवा रहे हैं और माथा टेककर मन्नत मांग रहे हैं।

निकाय चुनाव का चुनावी बिगुल बजने के साथ ही राजनीतिक दलों के प्रत्याशी भी अब पूरी तरह सक्रिय नजर आ रहे हैं। प्रत्याशी सुबह से लेकर रात तक अपने वार्ड के लोगों से जनसंपर्क कर रहे हैं। उनसे लोकलुभावन वादे और दावे कर रहे हैं। सुबह से ही ढोल नगाड़ा और ताशों की गूंज के बीच कांग्रेस बीजेपी सहित अन्य दलों और निर्दलीय प्रत्याशी सक्रिय नजर आ रहे हैं। इस सबके बीच एक वर्ग और है जिसकी खूब चांदी कट रही है। वह है कर्मकांडी पंडितों की।

इस समय प्रत्याशी अध्यात्म के सहारे चुनाव जीतने की कोशिश कर रहे हैं। मतदाताओं को रिझाने से लेकर तंत्र मंत्र यंत्र घोर अघोर सबका सहारा ले रहे हैं। इसीको देखते हुए प्रत्याशी पहले से पंडितों को यज्ञ हवन और पूजा पाठ के लिए समय ले रहे हैं। आचार्य हितेश शर्मा, राजेंद्र महराज, योगेश शास्त्री, पंडित मुकेश तिवारी, पंडित विशाल शर्मा और रवि महाराज इस तरह के यज्ञ अनुष्ठान करवा रहे हैं। कई प्रत्याशियों ने तो यज्ञ हवन शुरू भी करा दिया है।

720 प्रत्याशियों में 171 के सिर सजेगा जीत का सेहरा
तीनो निगम और पालिका के 171 वार्डों के 720 प्रत्याशी साम दाम दंड भेद की नीति अपना कर किसी भी कीमत में जीत हासिल करना चाह रहे हैं। क्योंकि उन्हें पता है कि 171 प्रत्याशियों के सिर में ही जीत का सेहरा सजना है। इसके लिए प्रत्याशी मंदिर, मस्जिद, गरुद्वारा और अन्य धार्मिक स्थलों में जाकर भगवान से मन्नत मांग रहे हैं।

बगलामुखी का अनुष्ठान भी करा रहे

तीनों नगर निगम और पालिका में दो दर्जन से अधिक प्रत्याशी ऐसे हैं जो 3-4 बार के पार्षद हैं। वह लोग पार्षद का चुनाव जीतने के साथ ही महापौर बनने के लिए पूरी ताकत लगा रहे हैं। चुनाव में विजयी होने के लिए गुप्त हवन पूजन के साथ चुनाव में जीत सुनिश्चित करने के लिए बगलामुखी अनुष्ठान तक करवा रहे हैं। सभी प्रत्याशी मुहूर्त को देख कर घर से प्रचार प्रसार में निकल रहे हैं। पंडितों द्वारा कई जगह पर पूजा पाठ और विशेष अनुष्ठान कराए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...