डीआरएम इंस्पेक्शन:प्लेटफार्म-3 में मलबा, पार्सल बुकिंग दफ्तर में फैली थी गंदगी, अफसर ने तुरंत हटवाया

भिलाईएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दुर्ग रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 2-3 का निरीक्षण करते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
दुर्ग रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 2-3 का निरीक्षण करते अधिकारी।
  • मंडल स्तर के अफसरों ने दुर्ग से सरोना तक के ट्रैक का लिया जायजा

दुर्ग रेलवे स्टेशन में प्लेटफार्म-3 बना है, लेकिन अभी तक इसका मलबा नहीं उठाया गया है। प्लेटफार्म चार की नाली में पानी का प्रवाह ठीक नहीं है। पार्सल बुकिंग दफ्तर के सामन पान और गुटखा खाकर लोगों ने गंदगी फैला दी है। यह सब चीजें मंगलवार को दोपहर बाद निरीक्षण पर आए डीआरएम श्यामसुंदर गुप्ता को मिली। उन्होंने इस पर नाराजगी जताई। ईएएन और संबंधित विभाग के अफसरों को तत्काल व्यवस्था सुधारने निर्देश दिए।

विशेष सेलून से डीआरएम श्यामसुंदर गुप्ता, सीनियर डीसीएम डॉ. विपिन वैष्णव, डीओएम प्रकाशचंद्र त्रिपाठी, कमांडेंट एसके गुप्ता आदि ने सरोना से दुर्ग रेलवे स्टेशन तक ट्रैक का निरीक्षण किया। पिछले दिनों बारिश के बाद ट्रैक की स्थिति की जांच की गई। पावर हाउस स्टेशन में यात्रियों की सुविधाओं से संबंधित चीजों की जानकारी ली।

दुर्ग में यात्रियों से मिले, पूछा - यहां की व्यवस्था कैसी है

दुर्ग रेलवे स्टेशन में उतरते ही डीआरएम और उनकी टीम सबसे पहले विश्राम गृह गई। वहां ट्रेनों की प्रतीक्षा कर रहे यात्रियों से मिले। उनसे पूछा कि आप स्टेशन की साफ-सफाई से संतुष्ट हैं। इस पर यात्रियों ने कहा कि प्लेटफार्म के भीतर ठीक है। लेकिन बाहर में कई स्थानों पर लोगों के पान और गुटखा खाकर थूकने के निशान पड़े हैं।

काउंटर पर देखा कि काउंटर क्लर्क अपने ड्रेस में है या नहीं। काउंटर की नियमित सफाई हो रही है या नहीं। यहां चल रहे काम पर अफसरों ने संतुष्टि जताई। सरोना और कुम्हारी रेलवे स्टेशन के कुछ प्लेटफार्म सवारी गाड़ियों के मुख्य द्वार के बराबर नहीं है। यहां प्लेटफार्म को अपग्रेड करने और उसका लेबल बढ़ाने की दिशा में काम करने पर विचार विमर्श किया गया।

दुर्ग में यात्रियों से मिले, पूछा - यहां की व्यवस्था कैसी है

दुर्ग रेलवे स्टेशन में उतरते ही डीआरएम और उनकी टीम सबसे पहले विश्राम गृह गई। वहां ट्रेनों की प्रतीक्षा कर रहे यात्रियों से मिले। उनसे पूछा कि आप स्टेशन की साफ-सफाई से संतुष्ट हैं। इस पर यात्रियों ने कहा कि प्लेटफार्म के भीतर ठीक है। लेकिन बाहर में कई स्थानों पर लोगों के पान और गुटखा खाकर थूकने के निशान पड़े हैं।

काउंटर पर देखा कि काउंटर क्लर्क अपने ड्रेस में है या नहीं। काउंटर की नियमित सफाई हो रही है या नहीं। यहां चल रहे काम पर अफसरों ने संतुष्टि जताई। सरोना और कुम्हारी रेलवे स्टेशन के कुछ प्लेटफार्म सवारी गाड़ियों के मुख्य द्वार के बराबर नहीं है। यहां प्लेटफार्म को अपग्रेड करने और उसका लेबल बढ़ाने की दिशा में काम करने पर विचार विमर्श किया गया।

प्लेटफार्म-3 में लंबे समय से पड़ा है मलबा पिछले दिनों प्लेटफार्म -3 के ट्रैक में काम किया गया है। अभी तक उसका मलबा नहीं उठाया जा सका है। इस पर डीआरएम ने नाराजगी जताई। पार्सल बुकिंग ऑफिस के पास गंदगी फैले होने और संकरी जगह पर कहा कि यहां सफाई की जाए। रंगरोगन भी किया जाए। साथ ही बुकिंग को दुर्ग रेलवे स्टेशन की गरिमा के अनुकुल बनाई जाए।

सरोना स्टेशन प्लेटफार्म का लेबल बढ़ेगा डीआरएम गुप्ता ने कहा कि बारिश की वजह से ट्रैक को देखा गया। अफसरों को इसमें ट्रेनों की सही परिचालन को ध्यान में रखते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। सरोना व कुम्हारी रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म के लेबल को बढ़ाया जाएगा। दुर्ग स्टेशन में प्लेटफार्म-3 के मलबे को उठाने, पार्सल बुकिंग ऑफिस का रंग-रोगन करने को कहा गया है।

खबरें और भी हैं...