जांच कमेटी के गठन के बाद मामला हुआ शांत:धार्मिक ग्रंथ पर टिप्पणी विरोध में 3 घंटे प्रदर्शन

भिलाई5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

केंद्रीय जेल दुर्ग में धार्मिक ग्रंथ पर कथित टिप्पणी को लेकर सोमवार की दोपहर जमकर हंगामा हुआ। धर्म विशेष के लोग बड़ी संख्या में जेल के बाहर जुटे। उन्होंने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। संबंधित अधिकारी पर तत्काल कार्रवाई की मांग की। 3 घंटे से ज्यादा समय तक लोगों ने प्रदर्शन किया।

इसके बाद एडीएम नूपुर राशि पन्ना मौके पर पहुंची। उन्होंने समाज के प्रतिनिधि मंडल से ज्ञापन लिया। साथ ही तत्काल एसडीएम, तहसीलदार व एक अन्य अधिकारी की टीम गठित की। इसके बाद मामला शांत हुआ। इस पूरे मामले में जेल में पदस्थ अधिकारी शोभारानी ने इस प्रकार की किसी भी घटना के होने से इंकार किया है। पुलिस ने बताया कि धारा 307 के प्रकरण में वाम्बे आवास निवासी युवक करीब एक वर्ष से जेल में निरुद्ध है।

सोमवार को उसकी मां उससे मिलने पहुंची। मुलाकात के दौरान युवक ने मां को बताया कि उसके धार्मिक ग्रंथ के साथ जेल में कुछ बंदियों द्वारा बदसलूकी की गई है। इस वजह से वह सभी धार्मिक ग्रंथ जेल के बाहर भेजना चाहता है। मां को धार्मिक ग्रंथ देने की अनुमति लेने के लिए जेल में पदस्थ अधिकारी शोभा रानी से संपर्क किया। अधिकारी ने कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी की। इसके बाद मामला गरमा गया, शाम करीब 4 बजे लोग मौके पर जुटने लगे। इसके बाद प्रदर्शन किया।

खबरें और भी हैं...