पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नगर निगम रिसाली के विकास कार्य को लेकर मंथन:BSP प्रबंधन से जमीन नहीं मिलने से विकास कार्य में देरी, PWD मंत्री ने कलेक्टर को बातचीत करने के दिए निर्देश

भिलाई7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
PWD मंत्री ताम्रध्वज साहू ने अधिकारियों के साथ बैठक ली। इस दौरान उन्होंने रिसाली निगम के विकास के लिए निर्देश दिए है। - Dainik Bhaskar
PWD मंत्री ताम्रध्वज साहू ने अधिकारियों के साथ बैठक ली। इस दौरान उन्होंने रिसाली निगम के विकास के लिए निर्देश दिए है।

छत्तीसगढ़ के रिसाली नगर निगम का विकास रुक गया है। इसके पीछे कई कारण हैं। इनमें सबसे प्रमुख कारण भिलाई स्टील प्लांट(BSP) की जमीन पर अघोषित आबादी, जहां विकास की गुंजाइश ज्यादा है। लेकिन वो जमीन BSP की है। वहां डायरेक्ट विकास नहीं कराया जा सकता है। वहां से NOC से लेकर तमाम नियम कायदों को पूरा करना पड़ता है। जमीन को लेकर BSP और निगम प्रशासन के बीच में बड़ा पेंच फंसा है।

प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू दुर्ग दौरे पर रहे। इस दौरान उन्होंने यहां सर्किट हाउस में अधिकारियों के साथ बैठक ली, उन्होंने कहा कि नगर निगम रिसाली में आने वाले समय में निगम व भवन सहित सभी प्रकार की आवश्यकता वाले विकास कार्यों को जल्द ही पूरा किया जाएगा। नगर क्षेत्र में स्कूल, कॉलेज, हॉस्पिटल समेत सड़क,पानी जैसे मूलभूत कार्यों को तेज गति से करते हुए निगम क्षेत्र को विकसित किया जाना है।

मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि हर दिशा में आ रही जमीन संबंधी समस्या को लेकर जिला प्रशासन,निगम व BSP प्रबंधन के अधिकारियों की बैठक कर आ रही समस्याओं को सुलझाने और निगम के विकास की दिशा में कार्ययोजना बनाने को कहा है। इसके अलावा रिसाली निगम के लिए पहले से आबंटित भूमि के हस्तांतरण में आ रही समस्या को शीघ्र हल करने को कहा। बैठक में स्वीकृत विकास कार्य व भविष्य में किए जाने वाले कार्यों की भी जानकारी ली गई। उन्होंने कहा कि जिन कार्यों के लिए बजट आबंटन किया गया है और जिसका टेंडर लिया गया है। उसे जल्द शुरु कराया जाए, जिससे निगम की मूल आवश्यकता और यहां रहने वाले आम लोगों को इसका फायदा मिल सके। उन्होंने विकास के लिए आगामी समय के लिए रणनीति तैयार करने और इसके लिए शासन को भी अवगत कराने को कहा है।

आपको बता दे कि, नवगठित रिसाली निगम 27 दिसंबर 2019 को अस्तित्व में आया। भिलाई नगर निगम को विभाजित करके अलग से इसका गठन किया गया था,रिसाली में 40 वार्ड है। अभी निगम में चुनाव की प्रक्रिया नहीं हुई है। मतदाता सूची का प्रकाशन हो चुका है। जिसमें 94 हजार 104 मतदाता है, महिला मतदाता की संख्या 46 हजार 814 और पुरुष की 47 हजार 288 है।

खबरें और भी हैं...