परीक्षा तिथि भी बदली:दुविधा समाप्त, कोरोना संक्रमण को देखते हुए डीयू की परीक्षा अब ऑनलाइन लिया जाना तय

भिलाई3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
साइंस कॉलेज में परीक्षा से जुड़ी जानकारी लेने पहुंच रहे छात्र। - Dainik Bhaskar
साइंस कॉलेज में परीक्षा से जुड़ी जानकारी लेने पहुंच रहे छात्र।

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए हेमचंद यादव विश्वविद्यालय की प्रथम और तृतीय सेमेस्टर की परीक्षा ऑनलाइन मोड पर लेने का फैसला किया है। पहले यह 18 से शुरू होने वाली थी, अब यह 20 जनवरी से शुरू होगी। 18 और 19 जनवरी को महाविद्यालयों में विद्यार्थियों के लिए उत्तर पुस्तिकाएं पहुंचाने का काम किया जाएगा। इससे पहले कुलपति डॉ. अरुणा पल्टा सभी प्राचार्यों की ऑनलाइन बैठक लेंगी।

इसमें परीक्षा से संबंधित उनसे सुझाव मांगेंगी। उच्च शिक्षा विभाग ने राज्य के सभी विश्वविद्यालयों को क्लास लगाने और परीक्षा से संबंधित अधिसूचना जारी की है। साथ ही इसमें सभी कुलपतियों से आग्रह किया है कि वे कार्यपरिषद की आपात बैठक लेकर इसका अनुमोदन किया जाए और उसके अनुसार दिशा-निर्देश जारी किए जाएं। इसकी अधिसूचना हेमचंद विवि को भी भेजी गई है। इसके बाद ऑफलाइन परीक्षा को रद्द किया गया है और परीक्षा की तिथि को दो दिन आगे बढ़ा दिया गया है।

तकनीकी विवि पहले जारी कर चुका है आदेश
छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय ने 9 जनवरी को ऑनलाइन सेमेस्टर परीक्षा लेने की अधिसूचना जारी किया था। इसकी जानकारी सभी शासकीय और निजी इंजीनियरिंग महाविद्यालयों के प्राचार्यों और डायरेक्टरों को भेजा गया। सभी पाठ्यक्रमों की नवंबर-दिसंबर 2021 की परीक्षा के लिए यह आदेश जारी किया गया है।

परीक्षार्थियों और प्राध्यापकों की दुविधाएं भी हो गई दूर
परीक्षा के ऑनलाइन या ऑफलाइन मोड को लेकर छात्रों और प्राध्यापकों दोनों में दुविधा की स्थिति थी। हेमचंद यादव विवि ने ऑफलाइन परीक्षा लेने का फैसला किया था, लेकिन जारी प्रवेश पत्रों में दिए गए दिशा-निर्देशों में ऑनलाइन परीक्षा से संबंधित बिंदु थे। इसे लेकर विद्यार्थियों में दुविधा की स्थिति थी। ऑनलाइन परीक्षा को लेकर मांग भी की गई थी।

अब कक्षाएं भी पूरी तरह ऑनलाइन संचालित होंगी
उच्च शिक्षा विभाग से जारी आदेश में स्पष्ट शब्दों में कहा गया है कि ऑनलाइन कक्षाएं निर्धारित समय में लिए जाएं। विद्यार्थियों को कक्षाओं में न बुलाई जाए। टीचिंग और नान टीचिंग स्टॉफ को एक तिहाई रोस्टर पद्धति से उपस्थित रहने के निर्देश दिए जाएं। रोस्टर ड्यूटी के दौरान जो टीचिंग स्टॉफ को घर में होंगे वह घर से ऑनलाइन पढ़ाएंगे और जो कॉलेज होंगे वह कॉलेज से ऑनलाइन क्लास लेंगे। घर में रहने वाले वर्क फ्रॉम होम के तहत कार्यों में सहयोग करेंगे। कोई भी अधिकारी और कर्मचारी बिना छुट्टी स्वीकृत कराए मुख्यालय से बाहर नहीं जाएगा। इस प्रकार बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए नया आदेश जारी हुआ है। इसे लेकर कोरोना गाइडलाइन का पालन भी अनिवार्य किया गया है। संक्रमण पर नजर भी रखी जा रही है।

10वीं और 12वीं की परीक्षा को लेकर फैसला नहीं
12वीं और 10वीं की फिलहाल 2 और 3 मार्च से ऑफलाइन वार्षिक परीक्षा लेने का फैसला किया गया है। इसकी समय सारणी भी जारी की जा चुकी है। इसी के अनुसार माध्यमिक शिक्षा मंडल तैयारी कर रही है। माशिमं के सचिव डॉ. वीके गोयल का कहना है कि अभी हमारे पास काफी समय है। चूंकि स्कूल के बच्चे गांव के अंदरूनी हिस्से में भी रहते हैं। वहां नेट कनेक्टिविटी की समस्या रहती है। इसकी वजह से ऑनलाइन परीक्षा काफी मुश्किल है। आने वाले दिनों में परिस्थितियों को देखते हुए फैसला किया जाएगा। इन दिनों स्कूलों में सिर्फ शिक्षकों को बुलाया जा रहा है, विद्यार्थियों को नहीं। सीजी और सीबीएसई दोनों ही बोर्ड को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है। बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर देखते हुए अब तक स्थिति स्पष्ट नहीं हो पाई है।

खबरें और भी हैं...