युवाओं को रोजगार दिलाने जिलेभर में चल रही प्रक्रिया:पीडब्ल्यूडी में ठेकेदारी के लिए चरोदा क्षेत्र के शिक्षित बेरोजगार पीछे, पाटन में सबसे ज्यादा हुआ रजिस्ट्रेशन

भिलाईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शासन ने प्रदेश के शिक्षित युवाओं को निर्माण कार्याें में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से ब्लाक स्तर पर शिक्षित बेरोजगारों को ई श्रेणी में निशुल्क पंजीयन की योजना तैयार की है। इसके तहत जिले में अब तक कुल 252 युवाओं ने पंजीयन कराया है।

इसमें सबसे कम रूचि भिलाई-चरोदा निगम क्षेत्र के युवाओं ने दिखाई है। जबकि सबसे ज्यादा संख्या पाटन ब्लॉक की रही है, यहां 55 युवाओं ने ई-श्रेणी में पंजीयन कराया है। जबकि चरोदा निगम क्षेत्र में मात्र 2 ही रजिस्ट्रेशन हुए हैं। राज्य सरकार की योजना के तहत मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना में ऐसे शिक्षित बेरोजगार काम कर सकेंगे, जो अनुसूचित क्षेत्रों के बारहवीं पास या सामान्य क्षेत्रों में रहने वाले स्नातक पास युवा हों। शिक्षित बेरोजगार युवाओं को रोजगार पाने के लिए लोक निर्माण विभाग में आवश्यक दस्तावेजों के साथ ई-पंजीयन कराने का आवेदन मांग गए। योजना के तहत जिले में ई-पंजीयन कराने वाले शिक्षित बेरोजगारों को लगातार काम दिया जा रहा है। पाटन क्षेत्र में ई-पंजीयन की संख्या सर्वाधिक होने की वजह से सुगम सड़क योजना के तहत 20 लाख रुपए राशि का टेंडर भी यहीं सबसे ज्यादा निकाला गया। इसी तरह सभी क्षेत्रों में प्रक्रिया होगी।

शहरी क्षेत्र: दुर्ग निगम में आए ज्यादा आवेदन
जिलेभर में सबसे ज्यादा रजिस्ट्रेशन पाटन में हुए। लेकिन शहरी क्षेत्र की बात करें तो सबसे ज्यादा आवेदन दुर्ग निगम क्षेत्र से आए। यहां 51 युवाओं ने पंजीयन कराया है। इसके बाद भिलाई निगम में 50 युवा, रिसाली में 36 और चरोदा निगम में 2 आवेदन आए।

धमधा और दुर्ग ग्रामीण के युवा भी पीछे नहीं
पाटन के बाद धमधा और दुर्ग ग्रामीण क्षेत्र में बड़ी संख्या में आवेदन मिला। धमधा ब्लॉक क्षेत्र में 27 और दुर्ग ग्रामीण क्षेत्र में 31 युवाओं ने रजिस्ट्रेशन कराए। इसके चलते पीडब्ल्यूडी के अनुविभाग क्रमांक दो और तीन में करीब 500 टेंडर जारी किए गए।

जहां रजिस्ट्रेशन उसी जगह पर दे रहे काम
आवेदक जिस निकाय या पंचायत क्षेत्र का रहवासी होगा, उसका ई-पंजीयन भी उसी क्षेत्र के लिए किया जाएगा। उसके बाद युवा को उसके ही क्षेत्र में काम दिया जा रहा है। इसके लिए हायर सेकेंडरी, स्नातक, निवास प्रमाण-पत्र, पैन नंबर आदि दस्तावेज जमा ले रहे।

योजना के तहत निकाय और पंचायतवार युवा बेरोजगारों को ई श्रेणी में पंजीयन देना था। इसमें पाटन क्षेत्र के युवाओं ने सबसे ज्यादा उत्साह दिखाया है। पंजीयन वाले युवाओं को अपने-अपने क्षेत्र सुगम सड़क योजना के तहत काम भी दिया जा चुका है।
-अशोक श्रीवास, कार्यपालन अभियंता, पीडब्ल्यूडी

खबरें और भी हैं...