रेलवे का पिंक बुक जारी:ठगड़ा बांध और रसमड़ा में अंडरब्रिज के लिए मिले आठ करोड़, दुर्ग और नांदगांव के बीच तीसरी लाइन बिछेगी

भिलाई10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दुर्ग को ठगड़ा बांध के रास्ते भिलाई शहर से जोड़ने वाली यह प्रमुख सड़क है। जहां फिलहाल फ्लाई ओवर का निर्माण कराया गया है। ट्रैफिक के दबाव को कम करने के लिए इस जगह पर स्थित रेलवे फाटक पर अब अंडर ब्रिज भी बनेगा। - Dainik Bhaskar
दुर्ग को ठगड़ा बांध के रास्ते भिलाई शहर से जोड़ने वाली यह प्रमुख सड़क है। जहां फिलहाल फ्लाई ओवर का निर्माण कराया गया है। ट्रैफिक के दबाव को कम करने के लिए इस जगह पर स्थित रेलवे फाटक पर अब अंडर ब्रिज भी बनेगा।
  • दुर्ग-भिलाई, दल्ली राजहरा, रसमड़ा, डी-केबिन में कार्यों के लिए बजट मिला

दुर्ग से डी केबिन तक सेंसर-युक्त सिग्नल लगाए जाएंगे। इसके लिए 4 करोड़ रुपए मिले हैं। इसी तरह ठगड़ा बांध में अंडरब्रिज बनाया जाएगा। इसके लिए 6 करोड़ रुपए दिए गए हैं। इस अंडर ब्रिड के बनने से ट्विनसिटी को राहत मिलेगी। इसके अलावा दल्ली से राजहरा तक बन रहे ट्रैक में अंतागढ़ से आगे के काम के लिए 100 करोड़ रुपए मंजूर किए गए हैं। इस बार अधिकतर पुराने काम को पूरा करने के लिए राशि दी गई है। करीब 157 करोड़ रुपए दिए गए हैं। जारी पिंक बुक के अनुसार दुर्ग, भिलाई पावर हाउस रेलवे स्टेशन समेत अन्य के लिए राशि रखी गई है। आधुनिक रूट रिले सिस्टम के लिए रकम दी गई है। यहां सिग्नल का काम मेन्युअल चल रहा है। सेंसर-युक्त सिग्नल से दो-ढाई किमी दूर ट्रेन के नजदीकी स्टेशन की सही जानकारी मिल सकेगी। दुर्ग से राजहरा तक ट्रैक का इलेक्ट्रिफिकेशन किया जाएगा। 3 करोड़ का प्रावधान रखा गया है।

जानिए इन कार्यों के लिए भी राशि तय

  • 100 - करोड़ दल्ली-राजहरा से रावघाट लाइन को
  • 30 - करोड़ दुर्ग-नांदगांव की तीसरी लाइन को
  • 9.67 - करोड़ दुर्ग स्टेशन में कॉमन लूप लाइन
  • 02 - करोड़ दुर्ग-रसमड़ा अंडर ब्रिज, 1 करोड़ भिलाई-दुर्ग लिंक ब्लाक के लिए

पुराने कामों में सिरसा गेट, डी-केबिन अंडर ब्रिज और कुम्हारी पुल के लिए 8 करोड़ मंजूर
डी-केबिन के पास एक अंडर ब्रिज बनाया जाना है। सरोना से कुम्हारी के बीच कैवल्यधाम के पास रेलवे फाटक पर अंडर ब्रिज बनाया जाएगा। इसके लिए 5 करोड़ का प्रावधान है। इसमें डी-केबिन का काम नया है। इसी तरह, कुम्हारी में अभी तक काम शुरू नहीं हो पाया है, लेकिन यह करीब दो साल पुराना है। इसके लिए 3 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया।

भिलाई एक्सचेंज यार्ड में बिछाई जाएगी दो अतिरिक्त लाइन, 13 करोड़ रु. का प्रावधान
भिलाई एक्सचेंज यार्ड में दो अतिरिक्त लाइन बिछाई जाएगी। इसके लिए 13 करोड़ रुपए का प्रावधान रखा गया है। इसके बन जाने से ट्रेनों के आने-जाने में और सुविधा होगी। किसी भी ट्रेन को लूप लाइन में खड़ी नहीं करनी पड़ेगी। पावर हाउस अंडरब्रिज और भिलाई नगर अंडर ब्रिज के कार्य और मेंटेनेंस के लिए करीब एक करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।

160 की गति से ट्रेन दौड़ाने दुर्ग-नागपुर ट्रैक का होगा मेंटेनेंस
दुर्ग से नागपुर तक सवारी गाड़ियों को अधिकतम 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ाने के लिए ट्रैक का मेंटेनेंस किया जाएगा। जहां भी स्टील या लोहे के स्लीपर होंगे, उसे बदलकर कांक्रिट स्लीपर लगाया जाएगा। इसके अलावा आधुनिक रिले सिस्टम भी लगाया जाएगा। दुर्ग से कुम्हारी तक इसका इलेक्ट्रॉनिफिकेशन किया जाएगा। बजट में इसके लिए प्रावधान किया गया है। इसी तरह दुर्ग से दल्ली राजहरा तक के ट्रैक मेंटनेंस के लिए भी अलग से राशि रखी गई है।

खबरें और भी हैं...