पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना का कहर, निशाने में हमारा परिवार:कोरोना से ऑटो चालक पुत्र की मौत के सदमे में पिता भी चल बसा, घर में कमाने वाला कोई नहीं

दुर्ग14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पूरा परिवार हो रहा संक्रमित, सामने आ रहे मामले, पहले भी हो चुकी ऐसी मौतें

शक्ति नगर दुर्ग में बुधवार को गुप्ता परिवार पर कोरोना पहाड़ बनकर टूट पड़ा है। यहां एक ही दिन में पिता-पुत्र की मौत हो गई। 33 वर्षीय दिनेश ही घर में एक मात्र कमाने वाला था। वह ऑटो चलाकर परिवार का पेट पालता था। उसे कुछ दिन पहले कोरोना हो गया। मंगलवार की शाम इलाज के लिए उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

सूचना मिलते ही पिता शिव प्रसाद अस्पताल जाने के लिए घर से निकले, लेकिन वापस रात में घर नहीं पहुंचे। बुधवार की सुबह ओम परिसर के करीब संदिग्ध परिस्थितियों में उनका शव मिला। इस प्रकार 24 घंटे के अंदर ही दोनों की मौत हो गई। अब घर में कोई कमाने वाला है। इस घटना के बाद घर की दो अन्य महिला सदस्यों को अब तक नहीं बताया गया है कि उनकी पतियों की मौत हो चुकी है। शव को मरच्यूरी में रखवा दिया गया है।

मृतक दिनेश के साले आशुतोष ने मरच्यूरी पहुंचकर की पिता की पहचान
मृतक दिनेश के पिता मंगलवार की शाम जिला अस्पताल जाने के नाम पर घर से निकले। इसके बाद वे घर नहीं पहुंचे। बुधवार की सुबह उनका शव ओम परिसर के करीब मिला। इसे मरच्यूरी पहुंचाया गया। इस बीच मृतक दिनेश का साला आशुतोष भी मरच्यूरी अपने जीता का शव लेने पहुंचा। जहां उसने दिनेश के पिता शिव प्रसाद का शव देखा और पहचान कराई। इससे पहले उसे भी नहीं पता था कि पुत्र के साथ पिता की भी मौत हो चुकी है। मरच्यूरी में जानकारी के बाद उसने यह जानकारी अन्य परिजनों को नहीं दी गई।

पिता-पुत्र की मौत की खबर नहीं दी गई घर की महिलाओं को, अब भी नहीं पता उन्हें
पुलिस ने बताया कि जब बुजुर्ग का शव काम्पलेक्स में मिला, तब उसकी पहचान नहीं हो पाई थी। बुजुर्ग का शव देखकर परिजन ने मरच्यूरी में पहचान की। बुधवार शाम बुजुर्ग के रिश्तेदार ने थाने में मर्ग कायम कराया है। परिजन ने यह भी बताया कि पिता और पुत्र की मौत की सूचना अभी दोनों की पत्नियों को नहीं दी गई है। बहरहाल पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेज दिया है। अब तक पिता-पुत्र की पत्नियों को मौत के बारे में जानकारी नहीं दी गई है। खबर है कि दोनों मृतकों का अंतिम संस्कार गुरुवार को होना है।

दो साल पहले हुई शादी, दिनेश की पत्नी 5 महीने के गर्भ से, साला पहुंचा मरच्यूरी
दिनेश के साले आशुतोष ने बताया कि दो साल पहले उसकी बहन की शादी हुई। जीजा खुद का ऑटो चलाते थे। बहन को पांच माह का गर्भ भी है। उसे सुबह ही पता चला कि उसके जीजा दिनेश को संक्रमण के बाद अस्पताल में भर्ती कराया है। जिसके बाद वह जीजा का हाल जानने के लिए अस्पताल गया था। यहां उसे पता चला कि जीजा की मौत हो चुकी है। उनके शव को मरच्यूरी में शिफ्ट कर दिया गया है। वह शव देखने के लिए मरच्यूरी गया। इसी दौरान एम्बुलेंस में मौजूद कर्मचारी एक बुजुर्ग का शव उतार रहे थे।

सेक्टर-4 निवासी रावत परिवार भी हो चुका है कोरोना की वजह से अनाथ
सेक्टर-4 निवासी रावत परिवार का हंसता-खेलता परिवार कोरोना की वजह से बिखर गया। घर के 4 सदस्यों की मौत कोरोना से हुई। इसमें माता-पिता व उनके दो बेटों की मौत हुई। अभी दो पुत्रों की पत्नियां और तीन बच्चे हैं। बड़े बेटे के दो बच्चे हैं। दोनों ही बेटियां हैं। एक इंजीनियर कर रही, वहीं दूसरी 10वीं में पढ़ रही है। वहीं छोटे बेटे का एक 7 वर्षीय बेटा है। इस प्रकार घर में अब दो महिलाओं के अलावा तीन बच्चे ही हैं। घर में कमाने वाला कोई नहीं है। हालांकि घर के मुखिया का एक बेटा रायगढ़ में निवास करता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कहीं इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है, लेकिन किसी अनुभवी व्यक्ति का मार्गदर्शन अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। किसी नजदीकी संबंधी द्वारा शुभ ...

    और पढ़ें