पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

असर ऐसा भी रहा:लॉकडाउन के पहले दिन का बीएसपी में नहीं दिखा असर, सहायक उद्योगों में उत्पादन 50% तक घटा

भिलाई11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बीएसपी के अंदर स्थित कैंटीन के पास का नजारा, जहां प्रोडक्शन के दौरान श्रमिक सोशल डिस्टेंसिंग ही भूल गए। आसपास खड़े देखे गए। - Dainik Bhaskar
बीएसपी के अंदर स्थित कैंटीन के पास का नजारा, जहां प्रोडक्शन के दौरान श्रमिक सोशल डिस्टेंसिंग ही भूल गए। आसपास खड़े देखे गए।
  • कोरोना को लेकर जारी नियमों व शर्तों का पालन कर उत्पादन जारी रखा

बीएसपी में प्लांट के अंदर लॉक डाउन का पहला दिन बेअसर रहा। प्लांट में गतिविधियां सामान्य दिनों की तरह होती रही। पहली पाली में उत्पादन भी सामान्य ही रहा। लेकिन बीएसपी के सहायक उद्योगों के साथ-साथ अन्य उद्योगों में लॉक डाउन का व्यापक असर नजर आया। कर्मियों की उपस्थिति कम थी। जिसके कारण उत्पादन भी 50 प्रतिशत तक प्रभावित हुआ।

जिला प्रशासन ने भले ही बीएसपी प्रबंधन को कर्मियों की ड्यूटी रोस्टर पद्धति से करवाने के साथ ही उत्पादन को घटाकर आधा करने का निर्देश दिया है लेकिन लॉक डाउन के पहले दिन प्लांट में ऐसा कुछ भी नजर नहीं आया। सब कुछ सामान्य दिनों की तरह चला। मिल से लेकर शाप्स एरिया में उत्पादन भी अन्य दिनों की तरह सामान्य ढंग से होता रहा। बताया गया कि प्लांट के 500 से अधिक कर्मी कोरोना प्रभावित होने की वजह से पहले ही अवकाश में चल रहे हैं।

कैंटीन में नहीं हो रहा गाइडलाइन का पालन, अब तक किसी ने नहीं दिया ध्यान, इसलिए लगातार बढ़ा खतरा
प्लांट में कर्मियों के चाय-नाश्ता के लिए 45 से अधिक कैंटीनें संचालित होती है। पिछले बार के लॉक डाउन में सभी कैंटीनों को बंद रखा गया था। इस बार भी प्रबंधन कैंटीनों को बंद करने की तैयारी में था लेकिन कई विभाग प्रमुख इसके पक्ष में नहीं थे। नतीजा लॉक डाउन के दौरान भी कैंटीनों को संचालित किए जाने का निर्णय लिया गया। हालांकि संचालकों को इस दौरान जिला प्रशासन के गाइड लाइन का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं लेकिन मंगलवार को ऐसे किसी तरह की व्यवस्था नजर नहीं आई।

अभी मेंटेनेंस शुरू होने में अब लगेगा समय
लॉकडाउन लागू होने के एक दिन पहले बीएसपी प्रबंधन ने विभिन्न मिलों और शॉप्स को मेंटेनेंस में लेने का शेड्यूल बनाया। एक साथ सभी मिल और शाप्स को मेंटेनेंस में नहीं लिया जा सकता। क्योंकि गैस का उत्पादन लगातार होता रहता है, जिसका खपाया जाना भी जरूरी है। ऐसे में मेंटेनेंस का कार्य भी शुरू होने में फिलहाल 3 से 5 दिन लगेंगे। तब तक इन मिलों और शाप्स में उत्पादन सामान्य ढंग से होता रहेगा। प्रबंधन ने एसएमएस-2, एसएमएस-3, मर्चेंट मिल में 10 दिनों के लिए मेंटेनेंस में लेने का निर्णय लिया है।

पुलिस की कार्रवाई के डर से नहीं पहुंचे सहायक उद्योगों में कार्यरत मजदूर व अन्य
बीएसपी के विपरीत लॉक डाउन का असर उसके सहायक और अन्य करीब 300 उद्योगों पर दिखा। इन उद्योगों में काम करने वाले मजदूर पुलिस कार्रवाई के खौफ से काम पर नहीं पहुंचे। जिसके कारण ज्यादातर उद्योगों में लॉक डाउन के पहले दिन उपस्थिति 40 से 50 प्रतिशत तक कम रही। एमएसएमई एसोसिएशन के उपाध्यक्ष अरविंदर सिंह खुराना ने कहा कि आदेश भले ही दिया गया है, पर मजदूरों में पुलिस का डर है।

प्लांट के भीतर टीकाकरण अभियान की हुई शुरुआत
बीएसपी ने जिला प्रशासन के सहयोग से संयंत्र के भीतर 6 अप्रैल को 2 टीकाकरण केन्द्र प्रारंभ किए। इनमें मेन गेट के पास स्थित मेन मेडिकल पोस्ट तथा संयंत्र भवन के पास स्थित ऑक्यूपेशनल हेल्थ सेंटर शामिल है। इन केन्द्रों में कुल 6 वैक्सीनेशन काउंटर बनाए गए है।

जहां जिला प्रशासन द्वारा वेक्सीनेटर तथा वैक्सीन उपलब्ध कराया जाएगा और इसके समन्वय तथा चिकित्सकीय देखरेख व अन्य कार्यालयीन कार्यों के लिए बीएसपी द्वारा चिकित्सक व पैरा मेडिकल स्टाफ एवं अन्य कार्यालयीन स्टाफ उपलब्ध कराया गया है। मंगलवार को इन केन्द्रों का जिला कलेक्टर डाॅ सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे व एसपी प्रशांत ठाकुर ने निरीक्षण किया और व्यवस्थाओं का जायजा लिया। पहले दिन 293 ने टीका लगवाया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें