कोरोना से बचाव की वैक्सीन:जिले में 2 से 18 साल तक के साढ़े पांच लाख बच्चाें काे लगेगी वैक्सीन

भिलाई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में शून्य से 18 वर्ष तक के बच्चों की कुल संख्या 7.5 लाख है। इसमें 2 से 18 वर्ष तक की आयु के कुल 5.5 लाख बच्चे हैं। इन्हें कोरोना से बचाव की वैक्सीन लगाई जाएगी। बच्चों के वैक्सीनेशन की शुरुआत किस आयु वर्ग से करेंगे, अभी तय नहीं हो पाया है।

प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य आलोक शुक्ला के मुताबिक बच्चों के वैक्सीनेशन की अभी कोई गाइड लाइन अभी नहीं मिली है। गाइड लाइन केअनुसार वैक्सीनेशन किया जाएगा। इधर बच्चों को कोरोना का टीका लगाए जाने की चर्चाओं के बीच उन्होंने सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तैयारी कर लेने के निर्देश पहले ही दे दिए हैं। डीआईओ डॉ. सीबीएस बंजारे का कहना है कि बच्चों के वैक्सीनेशन की तैयारी हमने कर रखी है। निदेशालय से आदेश मिलते ही शुरू कर देंगे। अभी हमें वहां से कोई निर्देश नहीं मिले हैं। जिले में शून्य से 18 वर्ष तक के बच्चों की संख्या 7.5 लाख अनुमानित है। इसमें 5.5 लाख 2 से 18 वर्ष तक के बच्चे हैं।

बच्चों के वैक्सीनेशन की केंद्र स्तर पर ऐसी 2 प्लानिंग
1. बीमारी पीड़ित बच्चों से शुरुआत :
बच्चों के वैक्सीनेशन की शुरुआत के लिए बनी प्लानिंग में सबसे पहले कुपोषण, दिल में छेद, शुगर, सिकलिंग से पीड़ित बच्चों को वैक्सीन लगाने की तैयारी की जा रही है।
2. 15 से 18 वर्ष की आयु से आगाज : बच्चों के वर्ग में सबसे पहले 15 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों को भी रखा जा सकता है। इसके लिए ज्यादा से कम उग्र को प्राथमिकता दी जा सकती है।

खबरें और भी हैं...