• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bhilai
  • From October 1 To 11, There Will Be A Presentation Of 19 Subjects, DU Will Take The Examination Of Research Students, Decided By The Center, Will Be Oral In 16 Subjects

पीएचडी कोर्स वर्क की मौखिक परीक्षा:1 से 11 अक्टू.तक, 19 विषयों का होगा प्रजेंटेशन, डीयू शोध करने वाले छात्रों की परीक्षा लेगा, केंद्र किए तय, 16 विषयों में होगा ओरल

भिलाई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हेमचंद यादव विश्वविद्यालय में 19 विषयों में पीएचडी के कोर्स वर्क की मौखिक परीक्षा 1 से 11 अक्टूबर तक होगी। इसके लिए तीन केंद्र चुने गए हैं। शिक्षा संकाय की मौखिक परीक्षा स्वामी स्वरूपानंद कॉलेज हुडको, हिंदी संकाय की श्रीशंकराचार्य कॉलेज जुनवानी और अर्थशास्त्र की कल्याण कॉलेज में होगी। बचे 16 विषयों की मौखिक परीक्षा विश्वविद्यालय के टैगोर हॉल और लाइब्रेरी हॉल में होगी। इस दौरान परीक्षार्थियों को अपना प्रजेंटेशन भी प्रस्तुत करना होगा।

अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉ. प्रशांत श्रीवास्तव ने बताया कि परीक्षा में 389 शोधार्थियों को शामिल होना है, लेकिन इनमें से 30 लोगों ने फॉर्म नहीं भरा है। यदि ये शोधार्थी 29 सितंबर बुधवार की शाम 5 बजे तक ऑनलाइन फार्म जमा नहीं करते हैं तो इन्हें मौखिक परीक्षा और लिखित पीएचडी कोर्स वर्क में शामिल होने की पात्रता नहीं रहेगी। एक पेपर रिसर्च मेथेडोलॉजी वाले एमफिल उपाधि धारक शोधार्थियों को कोर्स वर्क परीक्षा की छूट रहेगी। इसका मूल्यांकन संबंधित संकाय के डीन और अध्ययन मंडल के अध्यक्ष करेंगे।

प्रजेंटेशन के लिए मिलेगा 10 मिनट का समय

मौखिक परीक्षा के दौरान प्रजेंटेशन के लिए शोधार्थियों को 10-10 मिनट दिया जाएगा। इस दौरान अपने प्रोजेक्ट की 3 हार्ड कॉपी जमा करनी होगी। इसके बाद शोधार्थी को एक प्रति वापस की जाएगी। इसमें 100 अंक होंगे। 24 अक्टूबर को पीएचडी कोर्स वर्क की लिखित परीक्षा होगी। पास होने के लिए लिखित और मौखिक परीक्षा दोनों में अलग-अलग 55 प्रतिशत अंक हासिल करना होगा।

प्रजेंटेशन शोधार्थी के रिसर्च सुपरवाइजर शामिल होंगे

पीएचडी कोर्स वर्क के प्रजेंटेशन के दौरान संबंधित शोधार्थी के रिसर्च सुपरवाइजर भी उपस्थित रहेंगे। भू-विज्ञान, राजनीतिक विज्ञान, बायोटेक्नॉलॉजी, वनस्पति शास्त्र, हिन्दी, माइक्रोबायोलॉजी, प्राणीशास्त्र, भौतिकशास्त्र, अर्थशास्त्र, रसायन शास्त्र, शिक्षा, अंग्रेजी, होम साइंस, मनोविज्ञान, समाज शास्त्र, वाणिज्य, इतिहास, भूगोल एवं गणित विषय को इसमें शामिल किया गया है।

खबरें और भी हैं...