पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बीएसपी:हैवी लोड सहने वाले रेलवे ट्रैक का उत्पादन होगा शुरू मशीनों की फिटिंग के लिए जर्मनी से आएंगे इंजीनियर्स

भिलाईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्लेटफार्म, पिट लाइन, यार्ड, माइंस एरिया व अन्य ऐसे जगहों पर उपयोग के लिए तैयार किया जाएगा हेड हार्डेंड रेल

बीएसपी के यूनिवर्सल रेल मिल (यूआरएम) में हेड हार्डेंड रेल का उत्पादन इस वित्त वर्ष से शुरू कर दिया जाएगा। एसएमएस मीर कंपनी जर्मनी के इंजीनियर्स की टीम जल्द ही भिलाई पहुंचने वाली है। बीएसपी में एक्सपांशन प्रोजेक्ट के तहत 12 सौ करोड़ की लागत से यूआरएम स्थापित कर दिया गया है। यहां सामान्य रेलपांत के साथ-साथ हेड हार्डेंड रेलपांत का भी उत्पादन होना है। मिल में सामान्य रेलपांत का नियमित उत्पादन तो शुरू हो गया है लेकिन हेड हार्डेंड रेलपांत का उत्पादन शुरू होना अभी भी बाकी है। हेड हार्डेंड रेलपांत के मशीनों का कोल्ड ट्रायल बीते वित्त वर्ष के जून जुलाई महीने में कर लिया गया। कमिश्निंग नहीं होने से हेड हार्डेंड रेलपांत का काम अटका हुआ है।

जानिए, आखिर क्या है हेड हार्डेंड रेल का उपयोग
हेड हार्डेंड रेलपांत का इस्तेमाल रेलवे ट्रैक के उस हिस्से में किया जाता है, जहां से ट्रेन को गति पकड़नी होती है या गति को धीमी करनी है। सामान्य तौर पर रेलवे स्टेशन ही ऐसी जगह होती है जहां इन दोनों परिस्थितियों का चालक को सामना करना पड़ता है। इसे देखते हुए उच्च गुणवत्ता वाले रेल के निर्माण की प्लानिंग की गई है।

सामान्य रेलपांत से मजबूत लाइफ भी उससे अधिक
तेजी से ट्रेन की स्पीड पकड़ने और ब्रेक लगाने की स्थिति में ट्रेन के चक्के और पटरी के बीच अधिक घर्षण होता है। जिसके कारण सामान्य रेलपांत जल्दी घिस जाती है। हेड हार्डेंड रेलपात सामान्य रेलपांत से अधिक मजबूत होगा।

भारी गुड्स ट्रेन वाली रूट में भी होगा इसका इस्तेमाल
हेड हार्डेंड रेलपांत का इस्तेमाल उस रूट में भी किया जाएगा जहां भारी गुड्स ट्रेनें चलती है। माइंस एरिया और बंदरगाह को जोड़ने वाले रेलवे ट्रैक किसी केटेगरी में आते हैं। इसके अलावा रेलवे मेंटेनेंस वाली जगहों पर भी होगा।

कोविड-19 की वजह से अटका हुआ था अब तक प्रोडक्शन, अब पुन: पकड़ी है रफ्तार, आएंगे इंजीनियर्स यूआरएम का निर्माण जर्मनी की एसएमएस मीर कंपनी ने किया है। हेड हार्ड एंड रेल पात का उत्पादन सामान्य रेल पथ के साथ ही करना था लेकिन मशीनें स्थापित नहीं किए जाने की वजह से इसका उत्पादन शुरू करना संभव नहीं हो पाया। कोविड के चलते काम रुक गया।

रेलपांत की क्षमता है 17 लाख टन से अधिक
बीएसपी में रेलपांत की उत्पादन क्षमता यूआरएम के स्थापित होने के बाद करीब 17 लाख टन हो गई है। इनमें 12 लाख टन रेलपांत का उत्पादन क्षमता यूआरएम की है।

रेलवे में है अधिक रेलपांत की डिमांड, सप्लाई बढ़ी
रेलवे पुरानी रेल लाइन को बदलने के साथ नई रेल लाइनें भी बिछाना चाह रहा है। वित्त वर्ष 2018-19 में बीएसपी ने 12.85 लाख टन रेलपांत की सप्लाई की थी।

जर्मनी से इंजीनियर्स भिलाई आएंगे, जल्द काम पूरा होगा
"हेड हार्डेंड रेलपांत का उत्पादन जल्द शुरू कर दिया जाएगा। मशीनें कमिश्निंग करने के लिए जर्मनी से इंजीनियर जल्द भिलाई आने वाले हैं।"
-अनिल कुमार चौधरी, चेयरमैन, सेल

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें