• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Bhilai
  • If The Father Refused To See The Mobile, Then He Gave His Life, After Receiving Death Threats From Some Youths, A Young Man Hanged Himself.

तीन दिन में तीन लोगों ने की खुदकुशी:पिता ने मोबाइल देखने से मना किया तो दी जान, कुछ युवकों से जान से मारने की धमकी मिलने के बाद एक युवक ने लगाई फांसी

भिलाई21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मोहन नगर थाना क्षेत्र के शंकर नगर में दो युवकों ने मिलकर युवक से जमकर मारपीट कर दी। युवक को जान से मारने की धमकी दी। इससे परेशान होकर युवक ने घर जाकर फांसी लगा ली। पुलिस ने शनिवार को पीएम कराया और श‌व परिजन को सौंप दिया। वहीं पद्भनाभपुर इलाके में पिता की डांट के बाद बेटे ने पानी की टंकी से कूदकर जान दे दी। इधर, सुपेला इलाके में मानसिक रूप से परेशान बुजुर्ग ने फांसी लगा ली।

पहला मामला मोहन नगर थाना क्षेत्र के शंकर नगर का है। पुलिस के मुताबिक मृतक की पहचान 24 वर्षीय गणेश उर्फ गोविंद पिता संतोष यादव के तौर पर हुई है। जांच में पता चला है कि गणेश शुक्रवार को सुभाष विद्या स्कूल के पास दोस्त संतोष के साथ बैठकर पार्टी कर रहा था। इसी दौरान वहां पर कुक्कू नाम का युवक भी आ गया। गणेश ने कुक्कू को वहां से चले जाने के लिए कहा, लेकिन वह नहीं गया। जिसके बाद नाराज गणेश ने मंदिर में रखी मटकी कुक्कू के सिर पर फोड़ दी। घायल हालत में कुक्कू वहां से चला गया और आधे घंटे बाद अपने दोस्त नत्थू चंद्राकर को लेकर आ गया।

जिसके बाद दोनों ने गणेश के साथ जमकर मारपीट की। घायल हालत में गणेश अपने घर गया और परिजन को वाकया बताया। परिजन दोनों आरोपियों को घर पर समझौते के लिए गए थे। लौटने के बाद गणेश को खाना खिलाया और कमरे में सुला दिया। शनिवार सुबह परिजन गणेश के कमरे में गए तो उसका शव फंदे पर झूलता मिला। पुलिस ने पीएम कराने के बाद शव परिजन को सौंप दिया है। इधर, सुपेला के संजय नगर में रहने वाले 55 वर्षीय गज्जू सिंह राजपूर ने शुक्रवार सुबह घर में फांसी लगा ली। पूछताछ में पता चला है कि बुजुर्ग के नए मकान का निर्माण कार्य करवा रहा था। इसी वजह से उसकी मानसिक हालत ठीक नहीं थी। संभवत: इसी वजह से उसने खुदकुशी कर ली है।

85 फीट ऊंची पानी टंकी पर चढ़कर कूद गया
इधर, गुरुवार रात करीब 2 बजे 19 वर्षीय योगेंद्र पिता युधिष्ठिर तांडी निवासी पद्भनाभपुर ने पानी की टंकी के कूदकर जान दे दी। जांच में पता चला कि 4 नंवबर की रात योगेंद्र अपने कमरे में बैठकर मोबाइल देखते हुए नमकीन खा रहा था। इसी बात पर पिता ने योगेंद्र को डांट दिया और घर से चले जाने के लिए कह दिया था। इसी बात से नाराज होकर योगेंद्र घर से निकल गया और 85 फिट ऊंची पानी की टंकी में चढ़कर छलांग लगा दी। मौके पर ही उसने दम तोड़ दिया। पुलिस को परिजन ने बताया कि पहले भी एक बार योगेंद्र ने नींद की गोलियां खाकर खुदकुशी की कोशिश की थी।

खबरें और भी हैं...