एक थाने में ढाई साल से जमे पुलिसकर्मी हटेंगे:दुर्ग में 252 की ट्रांसफर लिस्ट तैयार, इसमें 17 ASI, 35 हेड कांस्टेबल और 200 कांस्टेबल

दुर्गएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डमी फोटो - Dainik Bhaskar
डमी फोटो

मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद दुर्ग के एसएसपी बीएन मीणा ने एक ही थाने में ढाई साल से पदस्थ पुलिस कर्मियों व अधिकारियों की लिस्ट तैयार करवाई है। यह लिस्ट बनकर एसएसपी के टेबल तक पहुंच गई है। लिस्ट में 252 का नाम है। इसमें 17 एएसआई, 35 हेड कांस्टेबल और 200 कांस्टेबल के नाम शामिल है। एसएसपी की मुहर लगते ही जल्द ही इन सभी की स्थानांतरण सूची को जारी कर दिया जाएगा।

एसएसपी बीएन मीणा ने भास्कर डिजिटल को बताया कि जिले में पुलिसिंग की व्यवस्था को बनाए रखने के लिए समय समय पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों का तबादला एक थाने से दूसरे थाने में किया जाता है। सीएम के निर्देश हैं कि ढाई साल से अधिक समय तक कोई भी पुलिस कर्मी या अधिकारी एक ही थाने में नहीं रह सकता है। इसलिए इस निर्देश के तहत लिस्ट मांगी गई है। लिस्ट बनकर तैयार है। अब इनमें से किसे किस थाने में ट्रांसफर करना है इसको लेकर विचार चल रहा है। जैसे ही फाइनल डिसीजन हो जाएगा। इन सभी के स्थानांतरण का आदेश जारी कर दिया जाएगा।

लाइन में पड़े पुलिस कर्मियों की भी खुल सकती है किस्मत

सूत्रों के मुताबिक ऐसे कई पुलिस कर्मी हैं जो कई सालों से लाइन में अटैच हैं। इस आदेश के बाद उनके नाम भी इस लिस्ट में आए हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि यदि सबकुछ नियम से हुआ तो लाइन में सालों से पड़े पुलिस कर्मियों और अधिकारियों को भी थानों की पोस्टिंग मिल सकती है। वहीं अंगद की तरह पैर जमाकर बैठे कई पुलिस कर्मी की रवानगी लाइन की तरफ हो सकती है। जब से ऐसी लिस्ट बनने की बात सामने आई है थानों में कुंडली मारकर बैठे कई पुलिस कर्मियों और एएसआई स्तर के अधिकारियों की रातों की नींद उड़ी हुई है।

मालखाना प्रहरी के तबादले से होगी समस्या

पुलिस अधिकारियों की माने तो मालखाना प्रहरी एक ऐसा पद है, जिसे थाने से संबंधित सभी केस डायरी के रखरखाव का पूरी जानकारी होती है। यदि इनका तबादला दूसरे थानों में किया जाता है तो वहां की केस डायरी के रखरखाव को समझने के लिए इन्हें काफी वक्त लगेगा। इस लिए इन लोगों का स्थानांतरण न करने का सुझाव थाना प्रभारियों द्वारा एसएसपी को दिया जा रहा है।