पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बड़ी लापरवाही:मेन राइजिंग लाइन के ऊपर ट्रैफिक ऑफिस बना दिया

भिलाईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पाइपलाइन फूटने से लीकेज, सुधारने पहुंचे तो हुआ खुलासा

नेहरुनगर चौक पर बने यातायात कार्यालय के निर्माण के दौरान बड़ी लापरवाही सामने आई है। यहां बिना निगम व लोक निर्माण विभाग से एनओसी लिए बिल्डिंग तान दी गई, जबकि इसके नीचे से अमृत मिशन योजना के तहत पाइप लाइन बिछाई गई थी। बिल्डिंग बनाने के दौरान ही पाइप में लीकेज सामने आया, लेकिन ध्यान नहीं दिया गया। यह लीकेज धीरे-धीरे बढ़ता रहा। गुरुवार की देर रात टाइल्स तोड़कर फौव्वारे के रूप में सामने आया। इसके दफ्तर के कम्प्यूटर रूम में पानी जमा हो गया, कई जरूरी दस्तावेज पानी में गीले हो गए। शुक्रवार की सुबह इसकी जानकारी पुलिस व निगम को हुई। मामले का खुलासा हुआ।

सरकारी जमीन पर दो महीने पहले बना यह भवन
नेहरु नगर चौक स्थित सरकारी जमीन पर नियम-कायदों को ताक पर रखकर यह निर्माण कराया गया। पुलिस विभाग ने जमीन चिन्हित करने के बाद एसपी कार्यालय से निर्माण को लेकर टेंडर जारी किया गया। पुलिस कार्पोरेशन के जरिए कंस्ट्रक्शन का जिम्मा रायपुर के ठेकेदार रजनीकांत को दिया गया। छह महीने में काम पूरा हुआ। इस दौरान निगम द्वारा आपत्ति भी की गई, लेकिन इसे गंभीरता से नहीं लिया गया।

अब दोनों विभाग एक दूसरे पर लगा रहे हैं आरोप
बिछी पाइप लाइन की टेस्टिंग में पता चला

"छह महीने पहले पाइप लाइन बिछाई गई थी। पाइप लाइन बिछाने के बाद और पहले भी कई बार फोर्स और सप्लाई के लिए टेस्टिंग की जा चुकी है। तब यह लीकेज सामने आया। अब लाइन को शिफ्ट किया जा रहा है।"
-संजय शर्मा, ईई भिलाई निगम

निगम ने नहीं दी थी इस बारे में कोई जानकारी
"पाइप लाइन में लीकेज के कारण ऑफिस तक पानी आ गया था। निगम ने बिल्डिंग निर्माण के दौरान पाइप लाइन नीचे से गुजरने की जानकारी नही दी थी। मेंटेनेंस का काम किया जा रहा है। पाइप को शिफ्ट भी किया जा रहा है।"
-रोहित झा, एएसपी सिटी दुर्ग

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें