पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अधिकारियों के साथ बैठक:प्रबंधन ने पर्क्स 15 से बढ़ाकर 18% देने का प्रस्ताव रखा, यूनियन प्रतिनिधियों ने मांगा 33%, आज फुल एनजेसीएस की बैठक होगी

भिलाई20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एनजेसीएस कोर ग्रुप की सोमवार को सेल प्रबंधन के अधिकारियों के साथ दिल्ली में बैठक हुई। बैठक में प्रबंधन की ओर से पर्क्स 15 प्रतिशत से बढ़ाकर 18 प्रतिशत दिए जाने का प्रस्ताव रखा। वहीं यूनियन प्रतिनिधियों ने 35 प्रतिशत की मांग से समझौता करते हुए 33 प्रतिशत दिए जाने की मांग रखी। लिहाजा दोनों पक्षों में सहमति नहीं बन पाई। अब मंगलवार को एनजेसीएस फुल कमेटी की बैठक होगी।

सेल के करीब 60 हजार कर्मचारियों का वेज रिवीजन 57 महीने से लंबित है। वेतन समझौता एक जनवरी 2017 से होना है लेकिन अब तक मामला चर्चा में ही अटका हुआ है। दोनों ही पक्ष अपनी-अपनी बात पर अड़े हुए हैं। इस माहौल को बदलने के लिए सेल प्रबंधन ने मंगलवार की फुल एनजेसीएस की बैठक के पहले कोर ग्रुप की बैठक रखी गई थी। प्रबंधन का मकसद इस बैठक में उन मुद्दों पर सहमति बनाना था जिसके कारण अब तक समझौता नहीं हो पा रहा। 13 प्रतिशत एमजीबी पर तो लगभग सभी यूनियनों में सहमति बन चुकी है। पर्क्स और पेंशन पर बात अटकी हुई है। कोर ग्रुप की बैठक में पर्क्स पर प्रबंधन ने 18 प्रतिशत का प्रस्ताव दिया। इसके पूर्व की बैठकों में वह 15 प्रतिशत से आगे बढ़ने को तैयार नहीं था। सोमवार को कोर ग्रुप की बैठक में वह पर्क्स में 3 प्रतिशत की वृद्धि करने को तैयार हुआ। अब इस विषय को लेकर 7 सितंबर को पुन: बैठक होनी है। इस बैठक में लिए गए निर्णय के आधार पर वेज रिवीजन की आगे की प्रक्रिया तय होगी। बैठक में सेल चेयरमैन सोमा मंडल भी मौजूद रहेंगी।

अब तक सिर्फ बैठकें: प्रबंधन का रूख हुआ नरम, सहमति बनने की उम्मीद बढ़ी

पर्सनल पे पर नहीं दिया जाएगा वृद्धि का प्रस्ताव
यूनियन प्रतिनिधियों के विरोध को देखते हुए प्रबंधन ने अपने रूख को थोड़ा और नरम करते हुए 20 प्रतिशत तक पर्क्स देने की भी बात रखी लेकिन एक शर्त यह रख दी कि इस वृद्धि का लाभ पर्सनल पे पर नहीं दिया जाएगा। इसके अलावा प्रबंधन ने 30 प्रतिशत पर्क्स दिए जाने से साफ इंकार कर दिया। यूनियन प्रतिनिधियों का कहना है कि प्रबंधन के इस प्रस्ताव से उन्हें और नुकसान होगा। पहले ही इंक्रीमेंट नही मिल पा रहा। यूनियनों ने तय किया है कि वे इस बार आम राय बनाकर बैठक में शामिल होंगे, ताकि किसी प्रकार की दिक्कत न हो।

यूनियनों ने 3% कम पर 33 प्रतिशत पर्क्स मांगा
प्रबंधन ने पर्क्स में अपने पूर्व के प्रस्ताव से 3 प्रतिशत की वृद्धि का प्रस्ताव किया। वहीं यूनियन प्रतिनिधियों ने अपने पूर्व की 35 प्रतिशत पर्क्स की मांग में 3 प्रतिशत की कटौती करते हुए प्रबंधन से 33 प्रतिशत पर्क्स दिए जाने की मांग की। जिसे प्रबंधन की ओर से ठुकरा दिया गया। इसके बाद अब इस मुद्दे पर मंगलवार की फुल एनजेसीएस की बैठक में चर्चा करने पर सहमति बनी। बैठक साढ़े 11 बजे से शुरू होगी। बैठक को लेकर तैयारी पूरी कर ली गई है। सोमवार को तय हुए निर्णयों को मुख्य बैठक में रखा जाएगा, ताकि आगे की चर्चा हो सके।

पेंशन में 9 % तक की मांग पर अब भी कायम
बैठक में ज्यादातर समय पर्क्स पर ही चर्चा होती रही। हालांकि इस दौरान इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ जी संजीवा रेड्डी ने पेंशन में प्रबंधन का अंशदान 9 प्रतिशत दिए जाने की मांग की। जिसे बाकी यूनियन प्रतिनिधियों ने समर्थन दिया। लेकिन पर्क्स का मुद्दा गरमाया होने की वजह से पेंशन में अंशदान के मुद्दे पर गंभीर चर्चा नहीं हो पाई। अब इस मुद्दों को भी मंगलवार की बैठक में जोरशोर से उठाए जाने की तैयारी है। यूनियनें अपनी इस मांग पर अब भी काम हैं। इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने पहले ही इस मुद्दे से सेल प्रबंधन को जानकारी दे दी है।

खबरें और भी हैं...