पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही ऐसी भी:7 दिन पहले जिसकी मौत उसका सैंपल कलेक्ट करने और होम आइसोलेशन पर रहने भेजा मैसेज

भिलाई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहले कराई थी कोरोना की जांच, उस समय रिपोर्ट निगेटिव
  • ऐसी लापरवाहियों के और भी हैं उदाहरण
  • एक अन्य मामले में रिपोर्ट ही बदल दी गई

कोरोना से जारी इस जंग के बीच स्वास्थ्य विभाग ने गुरुवार को हैरान करने वाला कारनामा कर दिखाया। मोती कॉम्प्लेक्स इंदिरा मार्केट दुर्ग क्षेत्र के 85 वर्षीय कृष्ण कुमार की 30 दिसंबर 2019 को मौत हुई। इसके बाद 31 दिसंबर को उनका अंतिम संस्कार भी हो गया। अब हेल्थ विभाग ने उनके परिजनों को मोबाइल नंबर में एक मैसेज भेजा है, जिसमें 7 जनवरी को मृतक कृष्ण कुमार की आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल लेना बताया गया है। साथ ही परिजनों सहित कृष्ण कुमार को आइसोलेशन में रहने की सलाह दी गई है। उनके पुत्र के कांटेक्ट नंबर पर यह मैसेज भेजा गया है। मैसेज के अंतिम लाइन में सैंपल को रायपुर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस भेजने की भी जानकारी दी गई है। शाम करीब 6 बजे उनके वकील पुत्र राजकुमार तिवारी ने भास्कर को इस मामले से अवगत कराया। स्वास्थ्य विभाग की ओर से भेजे गए मैसेज की स्क्रीन शॉट सहित अपने पिता की डेथ सार्टिफिकेट भी भेजी है।

सरकारी लैब से रिपोर्ट पॉजिटिव, निजी से निगेटिव, इसे लेकर घूमते रहा मरीज
लवली होटल पॉवर हाउस के अधिकारी ने 31 दिसंबर को शास्त्री अस्‍पताल सुपेला में कोरोना की जांच कराई। एंटीजन पॉजिटिव की रिपोर्ट दी गई तो अगले दिन शंकराचार्य मेडिकल कॉलेज में आरटीपीसीआर जांच कराई। 2 जनवरी को यहां की रिपोर्ट में उन्हें निगेटिव बता दिया गया। वर्तमान में दोनों रिपोर्ट उनके पास है। वह भी इसे लेकर हैरत में हैं।
केबिनेट मंत्री लकमा के संपर्क में भी आए : होटल के यह अधिकारी दो दिन पहले अपने संस्था के दूसरे होटल, आशीष इंटरनेशनल पहुंचे। केबिनेट मंत्री कवासी लकमा के संपर्क में आए। लकमा जब होटल पहुंचे, तो उनका स्वागत करने वाली टीम में यह अधिकारी भी शामिल रहे। उससे पहले ट्रेसिंग टीम ने पूछ-ताछ की तो अपनी रिपोर्ट निगेटिव भेज दिया था।

सरकारी लैब से एक ही व्यक्ति की दो रिपोर्ट, पॉजिटिव का पीएम भी हो गया
बीएसपी कर्मचारी 32 वर्षीय प्रदीप शर्मा की मरणोपरांत दो रिपोर्ट जारी की गई। तबीयत बिगड़ने के उपरांत सैंपल सेक्टर-9 अस्पताल में लिए गए सैंपल से उनको निगेटिव और मरणोंपरांत लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में लिए गए सैंपल में पॉजिटिव बताया गया। जबकि दोनों सैंपल 28 दिसंबर को लिए गए, दोनों की ट्रू-नॉट जांच ही की गई।
व्यक्ति का पोस्टमार्टम तक हो गया: स्वास्थ्य विभाग की गड़बड़ी को उजागर करने वाले इस मामले में चिंताजनक यह कि निगेटिव रिपोर्ट के आधार पर ही सुपेला के डॉक्टरों ने इस डेड बॉडी का पीएम कर दिया है। परिजन डेड बॉडी को सामान्य बॉडी की तरह उत्तर प्रदेश के बागपत जिले ले गए हैं। जिम्मेदारों की इस चूक से कई लोगों में संक्रमण का खतरा बढ़ गया।

सीधी बात
डॉ. गंभीर सिंह, सीएमएचओ दुर्ग

सवाल - व्यक्ति के अंतिम संस्कार के बाद उनकी कोरोना जांच की बात सामने आई है, क्या यह सही है?
- ऐसा नहीं हो सकता है। क्योंकि आरटीपीसीआर सैंपल लेने से पहले ओटीपी भेजते हैं।
सवाल - ऐसा हुआ है, भास्कर के पास इसके पूरे दस्तावेज उपलब्ध हैं, परिजनों का बयान भी है?
- अगर ऐसा है तो सुबूत मेरे पास भेजिए मैं इसकी जांच कर गड़बड़ी का पता लगाता हूं।
सवाल - यही नहीं एक व्यक्ति को आपकी लैब से पॉजिटीव बताया गया, निजी से निगेटिव, यह भी लापरवाही सामने आई है?
- सभी मामले हैरान करने वाले हैं। दस्तावेजों की जांच के बाद ही मैं कारण बता पाउंगा।
सवाल - पहले पॉजिटिव और फिर निगेटिव के कारण व्यक्ति केबिनेट मंत्री के संपर्क में आया है?
- सभी मामले बेहद गंभीर है। मेरे पास सभी डाटा भेजिए, जांच कराकर कार्रवाई करता हूं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें