पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मनमानी:90 हजार से अधिक रिजेक्ट बारदाने खरीदी केंद्रों में खपाए, किसानों से 5 रुपए में लेकर 15 रु.में बेच रहे

भिलाई6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 3 से 5 साल पुराने बारदाने भी खपाया जा रहा, किसान और मिलर्स खरीदी केंद्रों में पहुंच कर रहे सेटिंग

धान खरीदी को लेकर जारी बारदाना संकट के बीच नया खुलासा हुआ है। इस बार 3 से 5 साल तक पुराने बारदानों को नियम विरुद्ध रफू व सिलाई कराकर खपाया जा रहा है। किलो भाव में ऐसे बारदानों को खरीदा जा रहा है और सुधारकर समितियों तक पहुंचाया जा रहा है। दैनिक भास्कर की पड़ताल में खुलासा हुआ है कि अब तक 90 हजार से अधिक पुराने बारदानों को खपाया जा चुका है। अब भी पुराने बारदानों को खपाने का खेल चल रहा। 2 से 5 रुपए में इसे खरीदा जा रहा, सिलाई मशीन के जरिए रफू कराया जा रहा और सीधे समितियों तक पहुंचाया जा रहा। समितियों में किसानों को 50 प्रतिशत तक बारदाना स्वयं लाने कहा जा रहा, इसी तरह मिलरों से भी बारदाना मंगाया जा रहा। इसके आड़ में यह पूरा खेल संचालित हो रहा। इधर सरकार के पास बारदाने नहीं है। सरकार प्रति बारदाना किसानों को 14 रुपए व मिलरों को 15 रुपए का भुगतान कर रही है। इसी के चलते खेल हो रहा है।

जानिए, जिले में धान की खरीदी की स्थिति

  • 90 धान खरीदी केंद्र जिले में
  • 54.25 लाख क्विं. धान खरीदी का टारगेट
  • 33.62 लाख क्विं. धान खरीदी अब तक
  • 73952 किसान अब तक धान बेच चुके
  • 01 करोड़ बारदाने की डिमांड

केस-1: धान खरीदी केंद्र गाड़ाडीह नया केंद्र है। यहां 23488 क्विंटल धान खरीदी हुई है। यहां 63406 बारदाने मिले हैं। मिलरों ने 33111 बारदाने भेजे। सदगुरू नामक मिलर का 400 घटिया बारदाना पिछले एक सप्ताह से पड़ा है। उसे समिति से ले जाने कहा जा रहा है लेकिन वो इसे खपाने की कोशिश में है। इस केंद्र से 1600 घटिया बारदानों को रिजेक्ट किया गया। बावजूद पुराने बारदाने ही पहुंच रहे।

केस -2 : धान खरीदी केंद्र सेलूद में 40997 क्विंटल धान खरीदी हुई है। यहां 1 लाख 9 हजार 769 बारदाना आया। 23950 मिलरो ने धान खरीदने के लिए दिए। इस समिति में 600 बारदाने बेहद खराब थे जिसे खुद के पैसे खर्च कर रफू करवाया गया है। फेकारी धान खरीदी केंद्र में 1 लाख 2 हजार 3 बारदाने मिले। यहां 35440 बारदाने मिलरों ने भेजा।

ऐसे समझिए पुराने खराब बारदानों के उपयोग के खेल को
सरकार एक पुराना बारदाना मिलर से लेने पर 14 रुपए दे रही है। एक बाेरे का रफू खर्च 1 से 2 रुपए है। इस तरह 14 रुपए बारदाना का मिल रहा है। इसमें 2 रुपए रफू खर्च का घटा दें तो 12 रुपए प्रति बारदाना का खेल चल रहा। जिले के 90 धान खरीदी केंद्रों में 90 हजार से ज्यादा खराब बारदाने खपाए दिए गए। जिसकी कीमत 10.80 लाख रुपए होती है। नियम यह है कि बारदाने तीन बार से ज्यादा इस्तेमाल होने के बाद वह रिजेक्ट हो जाता है। रफू के बाद भी धान का वजन नहीं ले पाता।

जिले में है बारदानों का संकट लेकिन कोई भी गंभीर नहीं
प्रदेश सरकार अब किसानों के बारदाने से धान खरीदी करने का फरमान जारी किया है। किसान खरीदी केंद्र में अपने बोरे से धान भरकर लाएंगे और उसे तौल करवाकर छोड़ देंगे। इसके लिए उसे प्रति बारदाना 15 रुपये भुगतान होगा। जो किसान परिवहन के बाद अपना बोरा वापस लेंगे उसे 7 रुपए मिलेगा।

सीधी बात
भौमिक बघेल, डीएमओ दुर्ग

सवाल - बारदाना संकट के दौर में कई सारे फटे-पुराने बारदाने खपाए जा रहे हैं?
- नया बारदाना नहीं है। मिलरों के पास है वे पुराने है।
सवाल - समितियों में रफू करके रिजेक्टेड बारदाने को भेजकर पैसा बनाया जा रहा?
- जो उपयोग में होगा उसका भुगतान होगा। रिजेक्ट का नहीं होगा।
सवाल - बारदाना समस्या का हल क्या है?
-सरकार ने किसानों का बारदाने से भी धान खरीदी का फैसला लिया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का अधिकतर समय परिवार के साथ आराम तथा मनोरंजन में व्यतीत होगा और काफी समस्याएं हल होने से घर का माहौल पॉजिटिव रहेगा। व्यक्तिगत तथा व्यवसायिक संबंधी कुछ महत्वपूर्ण योजनाएं भी बनेगी। आर्थिक द...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser