पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गिरफ्तारी का विरोध:सांसद और कार्यकर्ता धरने पर, इधर जमानत याचिका हुई खारिज

भिलाई/पाटन8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिनभर बहस के बाद शाम से कार्यकर्ताओं के साथ आमरण अनशन पर बैठ गए सांसद विजय बघेल

भाजपा मंडल अध्यक्ष समेत तीन नेताओं की गिरफ्तारी के विरोध में पाटन में दिनभर सियासत गरमा गई है। सांसद विजय बघेल के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्ता बुधवार को प्रदर्शन करने पाटन पहुंचे। भाजपाई चाहते थे कि तीनों गिरफ्तार नेताओं को जेल से रिहा किया जाए। चूंकि मामला कोर्ट में होने के कारण जिला और पुलिस प्रशासन की भाजपाइयों के साथ सकारात्मक चर्चा नहीं हो पाई। इसके विरोध में सांसद विजय बघेल समेत कई कार्यकर्ता आमरण अनशन में बैठ गए। सांसद बघेल ने ऐलान कर दिया है कि जब तक भाजपा मंडल अध्यक्ष लोकमनी चंद्राकर, सांसद प्रतिनिधि राजा पाठक और जितेंद्र सेन को रिहा नहीं किया जाता, तब तक हम आमरण अनशन में रहेंगे। उत्तर पाटन के जिला पंचायत प्रत्याशी संजय यदु ने कहा कि सांसद और भाजपा कार्यकर्ता सिर्फ राजनीति करने प्रदर्शन किया है। आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। मौके पर कार्यकर्ताओं के साथ पुलिस की झूमाझटकी भी हुई। इस दौरान वैशालीनगर विधायक विद्यारतन भसीन, चरोदा मेयर चंद्रकांता मांडले, संजय बघेल, शरद बघेल, जिला पंचायत सदस्य मोनू साहू सहित अन्य मौजूद थे।

सुबह से ही पाटन छावनी में तब्दील, दुर्ग-भिलाई से पहुंचे भाजपा कार्यकर्ता
जेल में बंद सांसद प्रतिनिधि राजा पाठक, उत्तर पाटन मंडल अध्यक्ष लोकमनी चंद्राकर, जितेन्द्र सेन की जमानत याचिका पाटन लोअर कोर्ट से खारिज हो गई। इधर प्रदर्शन को लेकर सुबह से ही पुलिस और जिला प्रशासन अलर्ट मोड में रहा। जिले के सभी पुलिस अधिकारी से लेकर फोर्स को लगाया गया। दुर्ग-भिलाई व ग्रामीण क्षेत्रों से कार्यकर्ता पाटन पहुंचे थे। सांसद विजय बघेल के साथ आमरण अनशन में हर्षा चंद्राकर, ठाकुर रणजीत सिंह और गायत्री साहू बैठे हुए हैं।

केस फर्जी है, जब तक वापस नहीं, तब तक अनशन में रहूंगा: बघेल
सांसद विजय बघेल ने कहा कि फर्जी केस में हमारे साथियों की गिरफ्तारी की गई है। मेरे खिलाफ केस क्यों नहीं लगाते। शासन अपनी ओर से कोर्ट में लगाए फर्जी केस को वापस लेकर खारिज करे। बिना जांच एफआईआर दर्ज करना सरकार की दमनकारी को दर्शाता है। हमारा विरोध इस बात का है।

मामला कोर्ट में लंबित
"आमरण अनशन पर बैठे सांसद विजय बघेल से चर्चा करने गए थे। यह मामला न्यायालय में लंबित है। इस कारण स्थानीय स्तर पर किसी भी प्रकार का हस्तक्षेप नहीं कर सकते।"
-विनय पोयाम, एसडीएम पाटन

नियमत: होगी कार्रवाई
"प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी नहीं की गई है। सांसद विजय बघेल समेत कार्यकर्ताओं की मांग थी कि गिरफ्तार आरोपियों को छोड़ा जाए। चूंकि मामला कोर्ट में है। हस्तक्षेेप नहीं किया जा सकता।"
-आकाश राव गिरेपूंजे, एसडीओपी

खबरें और भी हैं...