पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बीएसपी प्रबंधन के बदले तेवर:अब मेन गेट पर प्रवेश से पहले आरटीओ की टीम के पहचान पत्र की सख्ती से होगी जांच

भिलाई22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्लांट में बहुत सारी ऐसी गाड़ियां चल रही, जिसका सालों से रजिस्ट्रेशन नहीं है। वहीं कुछ वाहनांे की स्थिति भी खराब है। इस पर भी जांच की जा रही - Dainik Bhaskar
प्लांट में बहुत सारी ऐसी गाड़ियां चल रही, जिसका सालों से रजिस्ट्रेशन नहीं है। वहीं कुछ वाहनांे की स्थिति भी खराब है। इस पर भी जांच की जा रही
  • आरटीओ की कार्रवाई के पांचवें दिन बीएसपी प्रबंधन के बदले तेवर

परिवहन विभाग (आरटीओ) की कार्रवाई के पांचवें दिन को बीएसपी प्रबंधन के बदले तेवर सामने आए। बीते चार दिनों से मेन गेट में प्रवेश के पहले महज वाहन के दस्तावेजों की जांच कर प्रवेश दिया जा रहा था। वहीं सोमवार को वाहन के साथ-साथ टीम के प्रत्येक सदस्य के पहचान पत्र सहित अन्य दस्तावेजों की बारीकी से जांच के बाद ही प्लांट में प्रवेश करने दिया। बीएसपी में प्लांट के अंदर चल रहे भारी वाहनों का आरटीओ बीते पांच दिनों से जांच कर रहा है।

यह पहला अवसर है जब आरटीओ को वाहनों की जांच के लिए प्लांट में प्रवेश की अनुमति दी जा रही है। बीते चार दिनों से आरटीओ की टीम को प्लांट में प्रवेश को लेकर खास मशक्कत नहीं कर पड़ी। गेट में सीआईएसएफ के जवान टीम के सदस्य जिन वाहनों में आ रहे थे, उस वाहन की जांच की औपचारिकता पूरी करने के बाद प्रवेश करने दिया जा रहा था। लेकिन पांचवें दिन यानि सोमवार को प्रबंधन के बदले तेवर नजर आए। गेट में ही टीम के सदस्यों के पहचान पत्र के साथ जांच के लिए प्रवेश करने देने से जुड़े दस्तावेजों की बारीकी से जांच की गई। अफसरों को प्रवेश करने आधा घंटा इंतजार करना पड़ा।

डटी रही टीम, 3 क्रेन समेत 4 वाहन किए जब्त
आरटीओ की टीम करीब 4 घंटे तक प्लांट में डटी रही।घूम-घूमकर भारी वाहनों की जांच करती रही। तीन क्रेन सहित चार वाहन जब्त किए गए। इनमें से ज्यादातर वाहनों का रजिस्ट्रेशन हीं नही था और वर्षों से इसका नियमित संचालन किया जा रहा है। इन वाहनों को जब्त करते हुए भट्ठी थाना परिसर में भेज दिया गया। टीम के साथ प्रबंधन के अफसर मौजूद थे।

इधर आरटीओ ने भी अपने जांच का पैटर्न बदल दिया
सोमवार को प्रबंधन के रूख को देखते हुए अब परिवहन विभाग ने भी जांच के पैटर्न को बदलने का निर्णय लिया है। अब तक प्लांट के अंदर सड़कों पर चल रहे बीएसपी के भारी वाहनों की ही जांच कर रहे थे। ठेकेदारों के वाहनों की जांच पर फोकस इसलिए नहीं किया गया क्योंकि ज्यादातर वाहनों के दस्तावेज कंप्लीट मिले। अब टीम हर सेक्शन में जाकर जांच करेगी।

आरटीओ की कार्रवाई के खिलाफ खोला मोर्चा
इधर आरटीओ की लगातार की जा रही कार्रवाई की आफिसर्स एसोसिएशन के पूर्व महासचिव केके यादव ने निंदा की है। उनका कहना है कि बीते चार दिनों से फोर्स के साथ प्लांट के अंदर प्रतिबंधित क्षेत्र में घुसकर इस प्रकार की कार्रवाई कर अफरा-तफरी और दहशत का माहौल और दबाव बनाने की कोशिश की जा रही है जो राष्ट्र हित में नहीं है। इसी तरह प्लांट के अन्य कर्मचारियों व ठेकेदारों ने भी इस जांच व कार्रवाई के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

जब्त वाहनों की सूची आयुक्त कार्यालय भेजी
जिला परिवहन अधिकारी अनुभव शर्मा के मुताबिक सोमवार के चार वाहनों को मिलाकर अब तक 61 वाहन जब्त किए जा चुके हैं। इनमें से पहले चार दिनों में जब्त वाहनों की सूची जिसमें प्रत्येक वाहन को लेकर की गई कार्रवाई का बिन्दुवार ब्यौरे दिया गया है, उसे परिवहन आयुक्त कार्यालय भेजकर आगे की कार्रवाई के लिए मार्गदर्शन मांगा गया है। साथ ही बीएसपी प्रबंधन से कार्रवाई को लेकर मिले जवाब से भी आयुक्त कार्यालय को अवगत करा दिया गया है। वहां के आदेश के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

प्लांट की सड़कों पर भारी वाहन भी कम नजर आए
प्लांट में किसी तरह प्रवेश करने के बाद परिवहन अधिकारियों ने वाहनों की जांच शुरू की तो अन्य दिनों के मुकाबले प्रबंधन के स्वामित्व वाले वाहनों की संख्या कम दिखी। ज्यादातर ठेकेदार के ही वाहन थे।

खबरें और भी हैं...