सेहत के लिए:सेक्टर-9 में मरीजों को दिया जा रहा पौष्टिक आहार, अस्पताल की किचन टीम हर दिन सक्रिय

भिलाई6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सेक्टर-9 अस्पताल के किचन में भोजन की पैकिंग करते कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
सेक्टर-9 अस्पताल के किचन में भोजन की पैकिंग करते कर्मचारी।
  • मरीजों की संख्या के साथ सेवा भी बढ़ा रहे

आहार का मानव स्वास्थ्य से सीधा रिश्ता है। मानव को स्वस्थ रखने में पौष्टिक भोजन महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कोविड के इस दौर में भी बीएसपी का किचन विभाग सेक्टर-9 हॉस्पिटल में भर्ती मरीजों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध करा रहा।

किचन की टीम हर दिन मरीजों के आहार को लेकर सक्रिय है। ताकि मरीजों को दवा के साथ बेहतर और पौष्टिक भोजन मिल सके और वे जल्दी स्वस्थ हो सकें। जेएलएन सेक्टर-9 हॉस्पिटल इस समय प्रदेश का सबसे बड़ा कोविड सेंटर बन चुका है। मरीजों की संख्या यहां लगातार बढ़ रही है।

मरीजों के हिसाब से किया जाता है उनका डाइट प्लान

इसके अतिरिक्त डाइट प्लान बनाते समय कोमारबिटिडी वाले मरीजों के हिसाब से भी डाइट प्लान बनाया जाता है। जिससे इन मरीजों को सही खान-पान मिल सके। इसके साथ ही बर्न यूनिट के मरीजों के लिए लिक्विड डाइट की जरूरतों को भी ध्यान में रखा जा रहा है। टीम सुबह 5 बजे से रात 9 बजे तक निरन्तर काम कर रही है।

दबाव में भी सेवा की दे रहे हैं अनुपम मिसाल

अस्पताल की डॉइटीशियन पारोमिता दासगुप्ता बताती हैं कि सामान्य दिनों में जहां 100 मरीजों के भोजन की व्यवस्था की जाती थी। वहीं अब कोविड के इस दूसरे दौर में 620 मरीजों का भोजन तैयार किया जा रहा। लगभग 6 गुना तक मरीज अधिक बढ़ गए हैं। इस दबाव में भी टीम बेहतर तरीके से मरीजों की देखभाल कर रही है। हर दिन मरीजों का डाइट प्लान बनाया जा रहा। सुबह का नाश्ता, दोपहर का भोजन, शाम की चाय, बिस्किट व रात का भोजन दिया जा रहा।

किचन टीम के ये सदस्य, जो लगातार हैं सक्रिय

डॉक्टर्स, नर्सेस, टेस्टिंग स्टाफ, मरच्यूरी स्टाफ व अन्य पैरा-मेडिकल स्टाफ की सेहत का भी ख्याल रखा जा रहा। अस्पताल का भोजन विभाग अस्पताल के मेंटनेंस एवं सर्विसेस के तहत संचालित है। महाप्रबंधक शाहिद अहमद तथा बलबीर सिंह के मार्गदर्शन व एस उपलपवार की देखरेख में डाइटीशियन पारोमिता दासगुप्ता, बीजी पिल्लई तथा सुरजा जयप्रसाद के नेतृत्व में रसोइया एवं सहायक प्यारेलाल, रामबाई, ताताराव, दुखिया बाई, लक्ष्मण, सूरज आदि सक्रिय हैं।

खबरें और भी हैं...