सीबीएसीई का निर्णय:10वीं -12वीं की फर्स्ट टर्म की नवंबर-दिसंबर और सेकंड टर्म की मार्च-अप्रैल में होगी ऑफलाइन परीक्षा

भिलाई2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीबीएसई ने नवंबर या दिसंबर में फर्स्ट टर्म की परीक्षा ऑफलाइन लेने का लिया फैसला

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा मंडल ने गुरुवार की देर रात 10वीं और 12वीं की वर्तमान शिक्षा सत्र 2021-22 की परीक्षा पैटर्न जारी किया। परीक्षा इस बार सेमेस्टर प्रणाली की तरह होगी। नवंबर या दिसंबर में फर्स्ट टर्म की ऑफलाइन परीक्षा होगी और दूसरे टर्म की ऑफलाइन परीक्षा मार्च-अप्रैल-2022 में होगी।

इसकी विस्तृत समय सारणी 18 अक्टूबर को जारी की जाएगी। इसकी जानकारी सीबीएसई पैटर्न से संचालित स्कूलों के प्राचार्यों समेत संबंधित सभी लोगों को जारी की गई है। इसके अनुसार प्राचार्यों और संयोजकों को स्कूलों में परीक्षा की तैयारी कराने को कहा गया है। हालांकि आने वाले दिनों में साल के सबसे बड़े त्योहार दीपावली और छठ समेत अन्य पर्व होंगे। इसे लेकर स्कूल के प्राचार्यों ने अपनी बात बोर्ड के पास रखी थी, लेकिन वर्तमान परिस्थतियों को देखते हुए उन्हें समय रहते परीक्षा की तैयारी करने और विद्यार्थियों की पढ़ाई पूरे कराने को कहा गया है, ताकि परीक्षा के दौरान छात्रों को किसी तरह की परेशानियों का सामना न करना पड़े। बहरहाल सीबीएसई ने परीक्षा का पैटर्न जारी कर दिया है।

फर्स्ट टर्म की परीक्षा में सवाल होंगे ऑब्जेक्टिव
जारी आदेश के अनुसार फर्स्ट टर्म की परीक्षा नवंबर या दिसंबर में हो सकती है। इसमें सभी सवाल वैकल्पिक होंगे। इसे हल करने के लिए विद्यार्थियों को मात्र 90 मिनट दिए जाएंगे। परीक्षा में सवाल विषयों सिलेबस के अनुसार होंगे। यदि कोई पेपर 100 अंक का होगा तो फर्स्ट टर्म में 50 अंक के और यदि 80 या 70 अंक के होंगे तो 40 या 35 अंकों के सवाल पूछे जाएंगे। विद्यार्थियों को प्रायोगिक परीक्षाओं में भी शामिल होना होगा।

सेकंड टर्म में सब्जेक्टिव, ऑब्जेक्टिव होंगे प्रश्न
अप्रैल 2022 में प्रस्तावित सेकंड टर्म के पर्चे में विद्यार्थियों से सब्जेक्टिव और ऑब्जेक्टिव दोनों तरह के सवाल पूछे जाएंगे। इसके लिए फिलहाल समय तय नहीं किया गया है, लेकिन उस दौरान उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए कोविड-19 की गाइड लाइन का पालन करते हुए परीक्षा ली जाएगी। पहले माइनर सब्जेक्ट की परीक्षा होगी। इसके बाद मेजर सब्जेक्ट की परीक्षाएं होंगी। दोनों परीक्षाएं ऑफलाइन होंगी।

तैयारी के लिए विद्यार्थियों को 40-45 दिन मिलेंगे
परीक्षा की तैयारी के लिए विद्यार्थियों को 4-45 दिन मिलेंगे। कक्षा 12वीं के तहत 114 और 10वीं के तहत 75 विषयों की परीक्षाएं ली जाएंगी। इस तरह इस बार दोनों बोर्ड कक्षाओं को मिलाकर 189 मेजर और माइनर विषयों की परीक्षाएं ली जाएंगी। दूसरे चरण के तहत परीक्षा अप्रैल मार्च में होगी इसमें सब्जेक्ट ईयर ऑब्जेक्टिव दोनों तरह के सवाल पूछे जाएंगे और यह परीक्षा कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए ली जाएगी।

खबरें और भी हैं...