पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कम्युनिटी पुलिसिंग:साइबर क्राइम रोकने ग्रामीण युवकों को पुलिस देगी ट्रेनिंग

भिलाई11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • साइबर क्राइम को लेकर ग्रामीणों को जागरूक करने की तैयारी, बोरी थाना क्षेत्र से 19 युवाओं को बनाएंगे एक्सपर्ट

साइबर ठगी के ग्रामीणों को बचाने के लिए प्लान तैयार किया गया है। 60 हजार आबादी वाले थाना क्षेत्र में साइबर अपराध की घटनाओं को कम करने के लिए एक्सपर्ट तैयार होंगें। ग्रामीण युवाओं को एक्सपर्ट बनाया जाएगा। बोरी थाना क्षेत्र के 38 गांव से 19 एक्सपर्ट की सूची तैयार की गई है। ट्रेनिंग के बाद एक्सपर्ट एमएलएम (मल्टीलेबल मार्केटिंग) की तर्ज पर काम करेंगे। एक्सपर्ट चेन बनाकर युवाओं को अपने साथ जोड़ेंगे। इसके बाद उन्हें ट्रेनिंग देकर घर-घर तक साइबर ठगी से बचने का तरीका ग्रामीणों को जानकारी देंगे। जबकि शहरी क्षेत्र में लोगों को जागरुक करने के लिए सिविक सेंटर इलाके में पुलिस ने साइबर वॉल बनाया है।

लगातार बढ़ रहा है जिले में साइबर क्राइम का ग्राफ, इसे देखते हुए की गई इसकी प्लानिंग
साइबर अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। जिले में दो लोगों से एक दिन में ठगी हो रही है। ठग नए नए तरीके से ठगी को अंजाम दे रहे है। इससे बचने के लिए जागरुक होना बहुत जरुरी है। शहरी इलाके के साथ ग्रामीण भी ऑनलाइन जेब कतरों के निशाने पर रहते है। यही वजह है कि ग्रामीण क्षेत्रों में सायबर अपराध को लेकर जागरुक होने की ज़रुरत है। इसकी शुरुआत बोरी थाने से होगी। टीआई व सायबर एक्सपर्ट गौरव तिवारी ने अपने क्षेत्र के 38 गांव के रहवासियों को जागरुक करने का प्लान तैयार किया है। थानेदार ने सबसे पहले इन गांवों से कंप्यूटर का ज्ञान रखने के साथ ग्रेजुएट करने वाले छात्रों की सूची तैयार की है। 19 युवाओं को सायबर की ट्रेनिंग दी जाएगी।

अन्य जगहों पर भी तैयारी : इस प्रकार के ग्रामीण युवा एक्सपर्ट बनाने की तैयारी ग्रामीण क्षेत्रों के अन्य थानों में भी है। प्रयोग के तौर पर बोरी से इसकी शुरुआत की जा रही। 38 गांव के ग्रामीणों को पहले जागरूक किया जाएगा।

ग्रामीण क्षेत्रों में फोकस वर्किंग शुरू, हर थाना पुलिस के लिए जारी की गई गाइड लाइन
साइबर अपराध व बचाव की जानकारी :
पहले चरण में इन 19 छात्रों को साइबर अपराध व बचाव के तरीके की जानकारी दी जाएगी। इन युवाओं को साइबर एक्सपर्ट के तौर पर तैयार करने की कोशिश रहेगी। जिससे जागरुक होने के बाद ये सभी अपने अपने गांव के लोगों को जागरूक कर सकें। साइबर संबंधी जानकारियों को समझने के उद्देश्य से ग्रेजुएट छात्रों को चयन किया गया है। इसके बाद उन युवाओं को इस ट्रेनिंग प्रोग्राम में शामिल किया जाएगा जो इसमें रुचि रखते है। महिलाओं को जागरूक करने के लिए युवतियों को भी जोड़ा गया है।

मल्टीलेबल मार्केटिंग कंपनी की तर्ज पर करेंगें काम : साइबर ट्रेनिंग के दूसरे चरण में ये 19 एक्सपर्ट मल्टी लेबल मार्केटिंग की तर्ज पर काम करने की जिम्मेदारी दी जाएगी। ये एक्सपर्ट अपने अपने गांव में युवक-युवतियों को ट्रेनिंग देकर ग्रुप में जोड़ेंगे। जिससे साइबर संबंधी जागरुक करने वालों की संख्या बढ़ती जाए। इसके साथ साथ गांव के सरपंच व सचिव को भी ट्रेनिंग दी जाएगी। जिससे सभी अपने अपने स्तर पर लोगों को सायबर ठगी के खिलाफ जागरुक कर सकें। सोशल मीडिया में ग्रुप के माध्यम से सभी को जोड़ा जाएगा।

तीन महीने तक दी जाएगी ट्रेनिंग : पहले चरण में चयनित युवकों को तीन महीने तक ट्रेनिंग दी जाएगी। जिससे वे सभी सायबर संबंधी सभी वारदात और सावधानियों को अच्छे से समझ सकें। इसके बाद उन्हें अपने अपने गांव के लोगों को ट्रेनिंग की अनुमति दी जाएगी। इस तरह के प्रयास का उद्देश्य कम्युनिटी पुलिसिंग को बढ़ावा देना है। साइबर ट्रेनर के जरिए पुलिस हर गांव से सीधे जुड़ सकेगी। इससे पुलिस को घटना-दुर्घटना के साथ अपराधियों की भी जानकारी मिल सकेगी। समय के अनुरुप इन युवाओं को नियमित ट्रेनिंग दी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें